छत्तीसगढ़

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बांकी मोंगरा के स्टाफ नर्स ने आर.एम.ए. के विरुद्ध लगाया प्रताड़ना का आरोप

(हितग्राही ने कहा निराधार है आरोप )

अरविन्द 

बांकी मोंगरा स्वास्थ्य विभाग जहाँ एक ओर कोरोना योद्धा के नाम से जाना जाता है वो अब प्रताड़ना करने के नाम से उजागर हो रहा है यह कारनामा 23 जुलाई प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बांकी मोंगरा का है जहाँ काम करने वाली स्टाफ नर्स स्वेता पाण्डे ने ये आरोप प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बांकी मोंगरा के (आर एम ए) डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग के विरुद्ध लगाया है,

शिकायत कर्ता – स्टाफ नर्स स्वेता पाण्डे

बच्चे की डिलीवरी को लेकर दोनों में खींच तान

दरअसल मामला एक बच्चे की डिलीवरी को लेकर दोनों में खींच तान हो गई हितग्राही मेहराज खान जो गजरा साईड बांकी मोंगरा का निवासी है उनकी पत्नी शहजादी खान के प्रसव स्थिति में थी तब उनकी हिमो ग्लोबिन जांच उपरांत डिलीवरी करने की बात डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग के द्वारा कहा गया जहाँ स्टाफ नर्स स्वेता पाण्डे मौजूद थी डाॅक्टर के हिमो ग्लोबिन जांच की बात का इनकार किया गया साथ जांच करने नहीं आने की बात कही गयी तब डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग ने सिखाने की बात कही किन्तु स्टाफ नर्स के द्वारा सीधे इनकार करने को लेकर डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग ने गेट आउट तुम्हारी यहाँ जरूरत नही है और न ही तुम्हारी शक्ल-सूरत देखना चाहती हूं यह कहकर उसे बाहर भेज दिया।

ग्रामीण चिकित्सा सहायक- डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग

डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग का इन सभी आरोपों से इनकार

जब हमने जानकारी चाहि तो डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग इन सभी आरोपों से इनकार करते हुए कहा गया कि स्टाफ नर्स स्वेता पाण्डे सीधे इनकार करती है मैंने उसे कहा कि मैं तुम्हें हिमो ग्लोबिन जांच करना सीखा दूंगी पर उसने बत्तमिजी करते हुए इनकार कर दिया और हमेशा इसी प्रकार उसका रवैया रहता है और वो मेरी कोई बात नहीं मानती जिसकी सूचना मैंने अपने वरिष्ठ अधिकारियों को दे दी है ।

हितग्राही – मेहराज खान

हितग्राही मेहराज खान से सच जानने के लिए बात किये तो उनके द्वारा इन सभी आरोपों को निराधार बताया उनका कहना है डाॅक्टर प्रेरणा गर्ग ने केवल मेरी पत्नी के हिमो ग्लोबिन जांच करने के लिए स्टाफ नर्स स्वेता पाण्डे को कहा वो जांच करने से साफ तौर पर ईनकार कर दी जिसके लिए डाॅक्टर ने जाने के लिए कह दिया और कहा मैं कर लूंगी पर डांटने वाली बात झूठी है ।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button