खड़े होकर करना होगा मंत्री का सम्मान , योगी सरकार का अधिकारियों को फरमान

उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी सरकारी अधिकारियों को निर्देश जारी कर कहा है कि उनके सामने कोई मंत्री, सांसद या विधायक आए तो उन्हें खड़े होकर उनका सम्मान करना होगा. जब ये लोग वापस जा रहे होंगे तब भी सरकारी अधिकारियों को खड़ा होना होगा.

उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने ये निर्देश जारी किए हैं. मुख्य सचिव के निर्देश से यह संकेत भी मिलता है कि अगर अधिकारी इसका पालन नहीं करते हैं तो उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जा सकती है.

गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों में कई सांसदों और विधायकों ने मुख्यमंत्री से मिलकर शिकायत की है कि अधिकारी उन्हें तरजीह नहीं देते हैं. इसके बाद राजीव कुमार इस आदेश को लेकर आए हैं जिसमें यह भी शामिल है कि इन एमपी/एमएलए के काम को प्राथमिकता देकर किया जाए.
सभी चिट्ठियों का जवाब देना होगा

आदेश में यह भी शामिल है कि अधिकारी सरकारी मद से हो रहे कार्यक्रमों में में वो चीफ गेस्ट बनकर नहीं जा सकते. मुख्य सचिव ने यहां तक कहा कि बार-बार निर्देश दिए जाने पर भी प्रोटोकॉल का पालन नहीं हो रहा है.
इसके अलावा निर्देशों में जनप्रतिनिधियों की सभी चिट्ठियों का जवाब देने, और उनके फोन उठाने का भी निर्देश दिया गया है. करीब तीन महीने पहले यूपी के कैबिनेट मंत्री ओम प्रकाश राजभर ने गाजीपुर के डीएम के खिलाफ धरना दिया था और कहा था कि डीएम उनकी शिकायत को महत्व नहीं दे रहे हैं.

1
Back to top button