1 जनवरी से कार्य करने लगेंगे रेलवे के सभी एयरटेल नंबर की जगह जिओ के नेटवर्क

रेलवे भी जिओ की शरण में, कन्वर्ट होंगे सीयूजी

अंकित मिंज/बिलासपुर।

रेलवे बोर्ड के जारी आदेश के अनुसार अब 1 जनवरी से रेलवे के सभी एयरटेल नंबर  की जगह जिओ के नेटवर्क से कार्य करने लगेंगे। इसके लिए कार्य शुरु हो चुका है।

जोन कार्यालय, मंडल कार्यालय व रेलवे स्टेशन में जिओ की बेहतर सेवा मिल सके इसके लिए गुरुवार को सब इंजीनियर ने तीनों ही जगहों का निरीक्षण किया और 70 से अधिक पांइट बनाने की जानकारी दी।

रेलवे अधिकारियों के पास वर्तमान में भारती ग्रुप की एयरटेल के सीयूजी (क्लोज्ड यूजर ग्रुप) की सर्विस पूरे देश में कार्य कर रही है। रेलवे बोर्ड ने बड़ा निर्णय लेते हुए भारती ग्रुप से अलग हो गई है। रेलवे अब पूरे देश में अब जिओ के नेटवर्क से कार्य करेगी।

रेलवे बोर्ड के जारी आदेश के अनुसार 1 जनवरी से सभी अधिकारियों के नंबर का नेटर्वक बदल जाएगा। नेटवर्किंग में किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो इसके लिए जिओ के एरिया मैनेजर से अधिकारी जियों का नेटवर्क बिना किसी अवरोध के कार्य कर सके इसके लिए तैयारी शुरु कर दी है।

गुरुवार को जिओ के सब इंजीनियर स्मीथ धिगरा ने अपनी टीम के साथ स्टेशन का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने 70 से अधिक एक्सेस पाइंट तैयार करने की बात कही है। सब इंजीनियर ने स्टेशन निदेशक किशोर निखारे, स्टेशन मास्टर बीके विश्वास, जीआरपी थाना प्रभारी एएन खटकर व अन्य अधिकारियों से मुलाकात कर एक्सेस पाइंट बनाने की जगह की जानक ारी लेते रहे।

14 लाख अधिकारी 5 लाख कर्मचारियों के पास हैं सीयूजी नंबर: जानकारी के अनुसार पूरे देश में रेलवे के 14 लाख अधिकारी व कर्मचारी कार्यरत है। इनमें से लगभग 5 लाख अधिकारियों व कर्मचारियों के पास सीयूजी नंबर संचालित हो रहा है।

Back to top button