धमतरी रेप के मामले में बोले प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर

रामसेवक पैकरा को बताया असफल गृहमंत्री

रायपुर: राज्य में बढ़ते दुष्कर्म की घटना और पीड़ितों एवं उनके परिजनों के साथ हो रही अपराधियों की तरह व्यवहार पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता धनंजय सिंह ठाकुर ने कहा कि “रामसेवक पैकरा असफल गृहमंत्री है राज्य में माताएँ-बेटियां सुरक्षित नहीं है राज्य में बढ़ते रेप की घटनाओं को रोकने में नाकाम गृहमंत्री रामसेवक पैकरा को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहियें”.

कानून का डर अपराधियों के बजाये आम लोंगो पर ज्यादा दिखता है छेड़छाड़, दुष्कर्म की कोशिश तथा दुष्कर्म जैसी घटनाओं पर थानों में सख्त कार्यवाही के बजाये पीड़ितो को आरोपी से समझौता करने दबाव डाला जाता है जिसका नतीजा है. राज्य में छेड़छाड़, दुष्कर्म की कोशिश, दुष्कर्म एवं दुष्कर्म के बाद हत्या की घटनाएं बढ़ी है. रमन राज्य में लचर कानून व्यवस्था का दुष्परिणाम बेटियों और माताओं को भुगतना पड़ रहा है. पूर्व में हुई दुष्कर्म की घटनाओं पर यदि सख्त से सख्त कार्रवाई होती तो आज राज्य को दुष्कर्म जैसी घटनाओं का दंश झेलना नहीं पड़ता बेटियां महिलाएं कहीं भी कभी भी बेखौफ हो कर आ जा सकती थी.

अब तो बेटियों महिलाओं के स्कूल मंदिर बाजार खेत-खलिहान जाने से पालकों के मन में तब तक भय बना रहता है जब तक बेटियां सकुशल घर वापस लौट कर नहीं आ जाती “बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ” का नारा लगाने वाली भाजपा सरकार में पढ़ने जाने वाली बेटियां तो दुष्कर्म की शिकार हो रही है. दुष्कर्म के बाद पुलिस बेटियों को न्याय दिलाने के बजाय अपराधियों को बचाने का प्रयास करती है. कोरिया में रेप के बाद हत्या कर शव को पेड़ में लटका कर एक प्रकार से धमकी भरा संदेश अपराधियों के द्वारा दिया जाता है.

धमतरी में दिव्यांग बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना के बाद अपराधी उसे मुंह बंद रखने की धमकी देता है रायपुर के स्कूल में 7 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना घटना के बाद दुष्कर्मी को पहचानने के बाद भी पुलिस प्रशासन कार्यवाही करने के बजाय उनके परिजनों के साथ ही अपराधियों की तरह बर्ताव करता है. धारा 164 के तहत पीड़िता का बयान दर्ज कराने के बजाय आरोपी का बयान दर्ज कराया जाता है.

पीड़िता के पिता को पूछताछ के लिए बार-बार पुलिस वाले पुलिस वैन में अपराधी की तरह बैठा कर ले जाते हैं. जिस पर पीड़िता के पिता को कहना पड़ता है कि मेरी बच्ची के साथ एक बार नहीं रोज-रोज रेप हो रहा है उन्होंने कहा कि पूरी तरह से राज्य में प्रशासनिक आतंकवाद चरम पर है. जिन पर कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी है वही कानून का दुरुपयोग कर पीड़ितों को ही प्रताड़ित कर रहे हैं और राज्य के मुख्यमंत्री गृह मंत्री विकास यात्रा की तैयारी का ढोल बजाते घूम रहे हैं.

Back to top button