छत्तीसगढ़

डेंगू की रोकथाम के लिए राज्य सरकार सतर्क

-मुख्य सचिव ने कलेक्टरों और स्वास्थ्य अधिकारियों को दिए

रायपुर:

राज्य सरकार द्वारा डेंगू सहित सभी मौसमी और संक्रामक बीमारियों को फैलने से रोकने के लिए और पीड़ितों के समुचित इलाज के लिए सभी जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। इस सिलसिले में मुख्य सचिव अजय सिंह ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के जरिए सभी जिला कलेक्टरों और स्वास्थ्य विभाग के जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेकर स्थिति की समीक्षा की।

उन्होंने दुर्ग, भिलाई और कुछ अन्य शहरों में डेंगू के प्रभाव का उल्लेख किया और जिला कलेक्टरों तथा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को सभी जरूरी कदम उठाने तथा यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि अब डेंगू से किसी की भी मृत्यु ना होने पाए।

मुख्य सचिव ने कहा कि डेंगू से बचाव की जानकारी देने के लिए राज्य के सभी जिलों के शहरों और गांवों में जन-जागरण अभियान चलाया जाए। सड़कों, गलियों और नालियों की स्वच्छता पर गंभीरता से ध्यान दिया जाए। उन्होंने कहा कि शुरू से ही डेंगू से बचाव के उपायों को अपनाकर इस पर नियंत्रण पाया जा सकता है।

डेंगू से पीड़ित मरीज शासकीय अस्पताल या निजी अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती होता है तो उसके साथ एक सहयोगी अवश्य ही रहे। उन्होंने कहा कि हर जिले के सभी शासकीय स्वास्थ्य केन्द्रों और निजी अस्पतालों से प्रतिदिन डेंगू के मरीजों की जानकारी प्राप्त की जाए।

प्रत्येक जिले में जिला स्तर पर डाॅक्टरों की एक टीम बनाएं, जो निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों की स्थिति पर निगरानी रखेंगे। उन्होंने स्वास्थ्य अधिकारियों से कहा कि डेंगू पर नियंत्रण के लिए प्रारंभिक तौर पर सभी आवश्यक जीवन रक्षक दवाईयों की उपलब्धता जिले के समस्त स्वास्थ्य केन्द्रों में सुनिश्चित की जाए साथ ही स्वास्थ्य केन्द्रों में डेंगू के संभावित मरीजों के लिए एक कक्ष आरक्षित कर लिया जाए।

उन्होंने कहा है कि स्थानीय प्रचार माध्यमों और प्रेस के प्रतिनिधियों के सहयोग से डेंगू के खिलाफ माहोल तैयार किया जाए। बैठक में स्वास्थ्य सचिव निहारिका बारिक और आयुक्त आर. प्रसन्ना भी उपस्थित थे।

Tags
Back to top button