छत्तीसगढ़

महात्मा गांधी और शास्त्रीजी के सपनों को साकार करने राज्य सरकार वचनबद्ध : डॉ. रमन सिंह

रायपुर : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल दो अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और पूर्व प्रधानमन्त्री स्वर्गीय श्री लालबहादुर शास्त्री की जयंती पर जनता को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी है . उन्होंने दोनों महान विभूतियों की जन्म-जयंती की पूर्व संध्या पर आज यहाँ जारी शुभेच्छा सन्देश में कहा है कि दोनों ही भारत माता के अनमोल रत्न थे और दोनों विभूतियों ने अपना सम्पूर्ण जीवन सादगी के साथ देश की सेवा के लिए समर्पित कर दिया . एक खुशहाल मानव समाज के निर्माण के उनके सपनों को साकार करने के लिए छत्तीसगढ़ सरकार भी वचनबद्ध है।
मुख्यमंत्री ने कहा – ब्रिटिश हुकूमत के खिलाफ देश की आजादी के लिए सत्य और अहिंसा पर आधारित लम्बे जन- आन्दोलन में महात्मा गांधी के ऐतिहासिक योगदान को युगों-युगों तक याद रखा जाएगा .डॉ. रमन सिंह ने कहा- महात्मा गांधी ने जिस स्वच्छ भारत का सपना देखा था ,उसे साकार करने के लिए प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में तीन साल पहले आज ही के दिन पूरे देश में दो अक्टूबर 2014 को स्वच्छ भारत मिशन की शुरुआत हुई थी ,जो अब एक विराट सामाजिक आन्दोलन का रूप ले चुका है . छत्तीसगढ़ में हम सबने इस राष्ट्रीय मिशन के घोषित लक्ष्य से एक वर्ष पहले याने अगले साल 2 अक्टूबर 2018 तक सम्पूर्ण राज्य को खुले में शौच से मुक्त बनाने का संकल्प लिया है . अब तक राज्य के 14 हजार से ज्यादा गाँव खुले में शौच मुक्त घोषित हो चुके हैं .मुख्यमंत्री ने कहा – महात्मा गांधी और स्वर्गीय श्री लालबहादुर शास्त्री के सपनों के अनुरूप छत्तीसगढ़ सरकार भी किसानों की सामाजिक-आर्थिक बेहतरी के लिए सजग और सक्रिय है . सहकारी समितियों में जहां हर साल लाखों किसानों को धान का उचित मूल्य दिलाने के लिए समर्थन मूल्य पर हजारों करोड़ रूपये के धान की खरीदी की जा रही है , वहीँ वर्ष 2016 और वर्ष 2017 की धान खरीदी पर उन्हें प्रति क्विंटल तीन सौ रूपये बोनस भी देने का निर्णय लिया गया है। सिंचाई के लिए पांच हार्स पावर तक विद्युत् पम्पों पर उन्हें सालाना 7500 यूनिट बिजली मुफ्त दी जा रही है।
डॉ. रमन सिंह ने कहा- मानवता का कल्याण ही दोनों महान विभूतियों के जीवन का लक्ष्य था . उनके इस लक्ष्य को ध्यान में रखकर छत्तेसगढ सरकार ने राज्य के सभी तकरीबन 60 लाख परिवारों के ढाई करोड़ से ज्यादा सदस्यों को आज एक अक्टूबर से स्वास्थ्य बीमा योजना के अंतर्गत पंजीकृत अस्पतालों में स्मार्ट कार्ड पर 50 हजार रूपए तक हर साल मुफ्त इलाज की सुविधा देने जा रही है। पहले इस योजना में 30 हजार रूपये तक इलाज की सुविधा थी ,जिसे राज्य सरकार ने 20 हजार रूपए तक बढ़ा दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा- बिना किसी आर्थिक भेदभाव के, राज्य के प्रत्येक परिवार को स्वास्थ्य सुरक्षा देने वाला छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है। उन्होंने लोगों से इस योजना का लाभ लेने की अपील की है।

Related Articles

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *