प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने अपने समाचार पत्र में छपी खबर का किया प्रतिवाद

पत्र में सरकार के खिलाफ एक साल तक आंदोलन नहीं करने की बात कही गई

रायपुर: भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने अपने हवाले से समाचार पत्र में छपी उस खबर का कड़ा प्रतिवाद किया है, जिसमें भाजपा द्वारा सरकार के खिलाफ एक साल तक आंदोलन नहीं करने की बात कही गई है।

जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं में गलत संदेश

उसेंडी ने साफ किया कि उन्होंने न तो कहीं किसी चर्चा में यह बात कही है और न ही कहीं इस आशय का वक्तव्य दिया है। कांग्रेस की प्रदेश में लगातार गिरती साख और भाजपा से जुड़ रहे जन-विश्वास से विचलित होकर भाजपा के खिलाफ इस तरह का दुष्प्रचार किया जा रहा है। अखबार में छपी इस खबर से जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं में गलत संदेश गया है, इस कारण इस खबर का हम कड़ा प्रतिवाद करते हैं।

सजग, संजीदा और आक्रामक विपक्ष की भूमिका

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष उसेंडी ने कहा कि भाजपा को प्रदेश की जनता ने सजग, संजीदा और आक्रामक विपक्ष की भूमिका दी है। भाजपा अपनी इस भूमिका में खरी उतर रही है और नए जनादेश तक भाजपा अपने तीखे विपक्षी तेवर की धारदार भूमिका निभाकर प्रदेश के लोगों के हक और कल्याण के साथ-साथ लोकतांत्रिक मूल्यों को बचाए रखने की जिम्मेदारी का निर्वहन करती रहेगी।

आज जन-जागरण करने के लिए विरोध में फिर धरना प्रदर्शन

पार्टी हर वह आंदोलनात्मक कदम उठाएगी जो लोकतांत्रिक दायरे में सरकार की विफलता को उजागर करने का काम करेगा। उसेंडी ने कहा कि भाजपा ने प्रदेश सरकार की विफलताओं और गलत नीतियों के खिलाफ हाल के महीनों में ही आंदोलन किया है और आज 16 अक्टूबर को भाजपा कार्यकर्ता जन-जागरण करने के लिए विरोध का स्वर बुलंद करते हुए राज्य भर में फिर धरना प्रदर्शन करने जा रहे हैं।

प्रदेश सरकार के जनविरोधी कृत्यों, बदलापुर की राजनीति, प्रदेश के हर वर्ग के लोगों के साथ किए गए छलावों के खिलाफ चुप बैठकर भाजपा प्रदेश के कांग्रेसी कुशासन को कतई अभयदान नहीं दे सकती।

भाजपा अध्यक्ष उसेंडी ने कहा कि किसानों की कर्जमाफी और बोनस भुगतान, बिजली बिल हाफ, रोजगार, नरवा-गरुवा-घुरवा-बाड़ी, बढ़ते अपराध जैसे हर मोर्चों पर प्रदेश की सरकार का राजनीतिक पाखंड बेनकाब हो गया है।

शर्मनाक राजनीतिक चरित्र का परिचय

शराबबंदी जैसे संवेदनशील मुद्दे को लटकाए रखकर प्रदेश सरकार ने जिस शर्मनाक राजनीतिक चरित्र का परिचय दिया है, उसकी तो मिसाल ही कहीं नहीं मिलेगी। प्रदेश का खजाना कंगाल करके प्रदेश सरकार ने छत्तीसगढ़ को बदहाली के मुहाने पर ला खड़ा किया है।

लोक-कल्याण और विकास के काम करने की नीयत

लोक-कल्याण और विकास के काम करने की नीयत ही प्रदेश की कांग्रेस सरकार में नहीं है और ओछे राजनीतिक नजरिए से ग्रस्त सत्तारूढ़ प्रदेश कांग्रेस सरकार केन्द्र की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपानीत राजग सरकार द्वारा जारी अनेक जनहितकारी योजनाओं व कार्यक्रमों को छत्तीसगढ़ में रोक दिया है। ऐसी जनविरोधी नीति वाले प्रदेश के पाखंडी कांग्रेस नेतृत्व के खिलाफ भाजपा कभी चुप बैठी रहकर तमाशा नहीं देख सकती।

प्रदेश की जनता ने जब भाजपा को शासन-संचालन का जिम्मा सौंपा तब हमने विकास के कीर्तिमानों से छत्तीसगढ़ को सजाया था और अब विपक्ष की भूमिका सौंपने वाली जनता की अपेक्षाओं पर भी हम खरा उतरेंगे।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष उसेंडी ने कहा कि दरअसल कांग्रेस अपने खिसकते जनाधार, लगातार गिरती राजनीतिक साख और अंतर्कलह के चलते सरकार में मची आपसी रार के चलते भाजपा के प्रति लोगों के पुनः बढ़ते रूझान से बेचैन हो रही है, बौखला रही है।

सरकारी मशीनरी का खुला दुरुपयोग करके धनबल-बाहुबल और छल-कपट करके दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव जीतने के बाद अब कांग्रेस को अपनी वास्तविकता पता चल गई है और इसलिए चित्रकोट विधानसभा उपचुनाव तथा आगामी नगरीय निकाय चुनावों में अपना सूपड़ा साफ होने की साफ तस्वीर देखकर कांग्रेस नेतृत्व भयभीत हो गया है, और इसलिए ऐसा मिथ्याप्रलाप करने का काम कांग्रेस कर रही है। नगरीय निकायों में महापौर और अध्यक्षों का अप्रत्यक्ष प्रणाली से चुनाव कराने की कवायद भी इस भय के चलते कांग्रेसी मुख्यमंत्री कर रहे हैं।

उसेंडी ने दावा किया कि कांग्रेस के लोग चाहे जितनी ऐसी झूठी खबरें प्लान करके मीडिया को परोस दें, लेकिन भाजपा और प्रदेश की जनता के परस्पर दृढ़ विश्वासपूर्ण रिश्तों में भ्रम और दरार पैदा करने की ये कांग्रेसी कोशिशें अंततः कांग्रेस के ही राजनीतिक पतन के ताबूत की कीलें ही साबित होंगीं।

Back to top button