अन्यराज्य

चोटीकटवा: कश्मीर में लिंचिंग से बचे 6 विदेशी

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर घूमने आए कुछ विदेशी पर्यटकों को ही स्थानीय नागरिकों ने चोटीकटवा मानकर पकड़ लिया। डल लेक के पास घूम रहे इन 6 पर्यटकों को रविवार सुबह लोगों ने पकड़ लिया।

स्थानीय पुलिस ने भीड़ से सभी पर्यटकों को सुरक्षित बचा लिया। 2 दिन पहले ही एक 70 साल के बुजुर्ग को अनंतनाग में चोटीकटवा होने के शक में भीड़ ने अपना शिकार बनाया था।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘डल लेक के अंदरूनी हिस्से कनिका ची मोहल्ला रैनवाड़ी में यह घटना हुई। अच्छी बात यह है कि हमें समय पर इसकी सूचना मिल गई और सभी सैलानियों को सुरक्षित बचा लिया गया।’

पुलिस के अनुसार, ‘पर्यटकों का टैक्सी ड्राइवर जैसे-तैसे वहां से भागने में सफल रहा और उसने पुलिस को सूचना दी।’ पुलिस इंस्पेक्टर जी पी सिंह और एसपी नॉर्थ सज्जाद अहमद तुरंत घटना स्थल पर पहुंचे और लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया।

विदेशी पर्यटकों में तीन लोग ऑस्ट्रेलिया से हैं और बाकी ब्रिटेन, आयरलैंड और दक्षिण कोरिया से हैं। इन्हें कुछ युवकों ने रैनावाड़ी शहर में पकड़ लिया था।

पुलिस का कहना है, ‘समय पर पहुंचकर हमने सभी पर्यटकों को सुरक्षित बचा लिया। सभी विदेशी पर्यटकों को पुलिस की निगरानी में एक होटल में सुरक्षित रखा गया है।’

पुलिस की तरफ से यह भी कहा गया है कि इस घटना में शामिल सभी दोषियों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई की जाएगी। साथ ही स्वघोषित धर्मगुरुओं के खिलाफ भी ऐक्शन लिया जाएगा जो चोटीकटवा के खिलाफ लोगों को भड़का रहे हैं।

स्थानीय पुलिस ने चोटी काटने वालों के खिलाफ एक विशेष जांच टीम का गठन किया गया है। इस घटना में शामिल लोगों के बारे में सूचना देने वालों को 6 लाख रुपए बतौर इनाम देने की भी घोषणा की गई है।

 

Summary
Review Date
Reviewed Item
चोटीकटवा
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
jindal

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.