राष्ट्रीय

बुलंदशहर हिसां पर बीजेपी विधायक का बयान, बोले- दो लोगों की मौत पर चिंता लेकिन 21 गायों की फ्रिक क्यों नहीं

सूबे की जनता ने प्रचंड बहुमत देकर मुख्यमंत्री को चुना है, ऐसे में उन्हें हटाने की अधिकार केवल जनता को है. इसके अलावा किसी को नहीं

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर के अनूपशहर सीट से बीजेपी विधायक संजय शर्मा ने बुलंदशहर में भीड़ द्वारा हिंसा मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस्तीफे की मांग करने वाले पूर्व नौकरशाहों की आलोचना की है.

विधायक ने कहा कि नौकरशाहों को केवल दो लोगों की मौत की चिंता है, लेकिन 21 गायों की फिक्र किसी को नहीं है. उन्होंने कहा कि सूबे की जनता ने प्रचंड बहुमत देकर मुख्यमंत्री को चुना है, ऐसे में उन्हें हटाने की अधिकार केवल जनता को है. इसके अलावा किसी को नहीं.

बता दें कि 80 से अधिक पूर्व नौकरशाहों ने बुधवार को एक खुला पत्र लिख कर राज्य सरकार पर तीन दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना तहसील में भीड़ के हिंसक हो जाने की घटना को ठीक ढंग से संभाल पाने में नाकाम होने के आरोप लगाए थे. इन अधिकरियों ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कट्टरवादी होने का आरोप लगाया था और उनके इस्तीफे की मांग की थी.

इन पूर्व अधिकारियों के जवाब में बुलंदशहर के अनूपशहर सीट से बीजेपी विधायक संजय शर्मा ने भी गुरुवार को खुला पत्र लिखा. विधायक ने पत्र में कहा कि अब आप सब बुलंदशहर की घटना पर चिंतित हो.

आपके कल्पनाशील दिमाग केवल दो लोगों- सुमित और ड्यूटी पर तैनात पुलिस अधिकारी की ही मौत देख पा रहे हैं, लेकिन 21 गाय मरीं, वो आप लोगों को नहीं दिख रहा है.

बीजेपी विधायक ने इंस्पेक्टर सुबोध की शहादत को नमन करते हुए लिखा है कि जब मथुरा में सपा शासन में एसपी सिटी मुकुल द्विवेदी की हत्या हुई थी तब पूर्व नौकरशाहों ने कोई प्रतिक्रिया नहीं आई. विधायक ने संघ को जानने के लिए उसकी शाखाओं में जाने की भी सलाह दी है.

उन्होंने कहा कि जिन राजनीतिक पार्टियों ने आपसे पत्र लिखवाया है, वह आपको टिकट भी अवश्य देंगी. विधायक ने कहा है कि वह भी स्वयं सरकारी नौकर छोड़कर राजनीति के द्वारा जनता की सेवा करने आए हैं आप भी राजनीति में आकर जनसेवा करें. विधायक ने अंत में पूर्व नौकरशाहों के पत्र को निराधार बताते हुए अनेक आरोप लगाए हैं.

Tags
Back to top button