हर्षिता हत्याकांड: नहीं सुलझ सकी मौत की गुत्थी

पानीपत: हरियाणवी लोक गायिका हर्षिता दहिया की हत्या मामले में असकी वजह अब तक सामने नहीं आई है। फिलहाल माना जा रहा है कि हर्षिता की हत्या अपनी मां के मर्डर की गवाह होने की वजह से की गई।

इसी आधार पर पुलिस सभी पहलुओं पर जांच आगे बढ़ा रही है। मंगलवार को पानीपत के चमराड़ा गांव से पुग्थला जाने वाले रास्ते पर कार सवार बदमाशों ने हर्षिता की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

पानीपत के एसपी राहुल शर्मा का कहना है कि हर्षिता की हत्या के मामले में हमें कोई राजनीतिक वजह नहीं मिली है और न ही कोई निजी झगड़ा सामने आया है।

मंगलवार को हुई घटना के वक्त गायिका गांव चमराडा में कार्यक्रम खत्म कर सोनीपत की ओर जा रही थीं। बताया जा रहा है कि हत्यारा और उसकी कार का चालक गांव चमराडा के कार्यक्रम में भी उपस्थित रहे थे।

हत्या की सूचना मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा व अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और जांच की। इसराना थाना पुलिस ने हर्षिता की हत्या के मामले में कई लोगों को हिरासत में लिया है।

हर्षिता की हत्या क्यों की गई, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है। हर्षिता की साथी निशा ने बताया कि हर्षिता काफी समय से नरेला में अपने रिश्तेदार के यहां रह रही थी। हर्षिता ने उन्हें बताया कि उसे फोन पर हत्या की धमकी मिल रही है।

हर्षिता ने हत्या की धमकी को लेकर फेसबुक पर भी एक विडियो भी डाला था। निशा ने बताया कि कार में हर्षिता उसके साथ पीछे वाली सीट पर बैठी थी। हत्यारे व हर्षिता के बीच इस दौरान कुछ बातचीत भी हुई, लेकिन हत्यारे के डर के कारण वह कुछ सुन नहीं पाई।

इसके अलावा हर्षिता की हत्या के मामले में उनकी बहन ने आरोप लगाते हुए कहा था कि हत्या उसके पति दिनेश माथुर ने कराई है। हर्षिता की बहन लता दहिया ने कहा था कि मेरी बहन मां की हत्या के मामले की गवाह थी, इसलिए मेरे पति ने उसकी हत्या कर दी।

जानकारी के अनुसार, हरियाणवी गायिका व डांसर हर्षिता दहिया के गांव चमराडा से बाहर निकलते ही एक कार ने हर्षिता की कार को ओवरटेक किया और फिर गायिका की कार को जबरन रुकवा लिया।

कार रुकने के बाद आगे चल रही कार में सवार एक तिलक लगाए युवक बाहर निकला और हर्षिता की कार में सवार लोगों को रिवॉल्वर दिखा कर चेतावनी दी कि यदि जिंदा रहना चाहते हो तो हर्षिता को छोड़कर कार से नीचे उतर जाओ।

जान खतरे में देख हर्षिता के सभी साथी निशा, प्रदीप कुमार, संदीप और भगत कार से नीचे उतरकर सड़क किनारे खेतों में भाग निकले।

आरोप है कि हत्यारों ने करीब 7 राउंड फायरिंग की जिसमें 6 गोलियां सिंगर को लगीं और अपने साथी की कार में सवार होकर फरार हो गया। फायरिंग की आवाज सुनकर बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौके पर पहुंच गए।

इस मामले की जानकारी मिलने पर जिला पुलिस अधीक्षक राहुल शर्मा भी घटनास्थल पर पहुंचे और एफएसएल की टीम से भी घटनास्थल की जांच करवाई।

 

Back to top button