कोरोना से बचाव के लिए तय दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन कराएं राज्य: केंद्रीय गृह सचिव

केंद्रीय गृह सचिव ने मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि कोरोना संक्रमण के मामलों की घटती संख्या के कारण राज्यों ने पाबंदियों को हटाना शुरू कर दिया है किंतु इन पाबंदियों को सतर्कतापूर्वक हटाया जाना चाहिए।

नई दिल्ली: देश के कई हिस्सों में विशेष रूप से सार्वजनिक परिवहन और पर्वतीय पयर्टन स्‍थानों पर कोविड दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया जा रहा है। इसे देखते हुए केंद्र सरकार ने राज्यों और जिला प्रशासन को भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर कोविड मानकों का पालन सुनिश्चित करने के लिए सख्त निर्देश जारी करने को कहा है। राज्यों के मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि कोविड मानकों का सख्ती से पालन कराने में किसी तरह की कोताही के लिए संबंधित अधिकारी जिम्मेदार होंगे।

केंद्रीय गृह सचिव ने राज्यों को लिखा खत

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नाराजगी के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने बुधवार को राज्यों को कोरोना की रोकथाम के लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी करने का निर्देश दिया। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने राज्यों को लिखे पत्र में कहा कि वह जिला प्रशासन व अन्य स्थानीय प्रशासन को सख्त हिदायत दें कि भीड़भाड़ वाले क्षेत्रों में शारीरिक दूरी और मास्क पर निगरानी रखी जाए और कोरोना से बचाव के लिए तय नए दिशा निर्देशों का पालन किया जाए।

केंद्रीय गृह सचिव ने मुख्य सचिवों को लिखे पत्र में कहा कि कोरोना संक्रमण के मामलों की घटती संख्या के कारण राज्यों ने पाबंदियों को हटाना शुरू कर दिया है किंतु इन पाबंदियों को सतर्कतापूर्वक हटाया जाना चाहिए।

पर्यटक स्थलों पर बढ़ रही है भीड़

दरअसल सोशल मीडिया पर देश के अलग-अलग स्थित पर्यटन स्थलों पर बड़ी संख्या में सैलानियों के इकट्ठा होने की तस्वीरें आ रही हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इस पर सार्वजनिक तौर पर नाराजगी जताई है। इसको ध्यान में रखते हुए केंद्रीय गृह सचिव ने पत्र में कहा कि सार्वजनिक परिवहन और पहाड़ी इलाकों में कोरोना के दिशा निर्देशों के उल्लंघन की शिकायतें आ रही हैं। बाजारों में भी बड़े पैमाने पर लोग इकट्ठा दिख रहे हैं, जो सामाजिक दूरी का पालन नहीं कर रहे, यह चिंताजनक है। इसके कारण कुछ राज्यों में कोरोना के मामले फिर से बढ़े हैं, जो कि चिंताजनक है।

केंद्रीय गृह सचिव ने कहा कि हम सबको ध्यान रखना होगा कि यदि कोरोना की प्रजनन दर (आर फैक्टर) 1.0 से ज्यादा हो जाती है, तो यह इस महामारी के फैलने का संकेत है। इसलिए अधिकारियों को इसके प्रति सावधान रहने की जरूरत है। उन्होंने आगे कहा कि भीड़भाड़ वाले इलाकों में दुकानों, बाजार, रेस्तरां और रेलवे स्टेशनों पर सख्त नियम लागू किया जाना चाहिए, क्योंकि इन्हीं स्थानों को हॉटस्पॉट के रूप में पाया गया है।

अधिकारियों को सख्त दिशा-निर्देश जारी करने के दिए आदेश

उन्होंने मुख्य सचिवों से आग्रह किया कि वह संबंधित अधिकारियों को भीड़ भाड़ वाली जगहों पर कोरोना को लेकर सख्त दिशा-निर्देशों का पालन करवाने का आदेश जारी करें और किसी भी प्रकार की लापरवाही के लिए संबंधित अधिकारी को जिम्मेदार ठहराएं. क्योंकि थोड़ी सी लापरवाही सभी को फिर से मुसीबत में डाल सकती है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button