भयावह होते जा रहे हैं आंकड़ें, मरीजों से भरे पड़े हैं अस्पताल

प्रदेश में तेजी से बढ़ते कोरोना संक्रमण पर पूर्व सीएम ने कही ये बात

भोपाल: मध्यप्रदेश सहित देश के कई राज्यों में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। यहां अलग-अलग जिलों से रोजाना नए मामले मामलों की पुष्टि हो रही है। हालात को देखते हुए मध्यप्रदेश सरकार ने 11 जिलों के 12 शहरों में वीकेंड लॉकडाउन लागू कर दिया है। बढ़ते संक्रमण को लेकर पूर्व सीएम कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर ​निशाना साधा है।

पूर्व सीएम कमलनाथ ने बढ़ते संक्रमण को लेकर कहा है कि मध्यप्रदेश में कोरोना संक्रमण के आंकड़े भयावह होते जा रहे हैं। भोपाल-इंदौर जैसे शहरों में संक्रमण दर उच्चतम स्तर पर पहुंच चुकी है? प्रदेश के कई जिलों में अस्पताल मरीजों से भरे पड़े हैं, विभिन्न जिलों से अस्पतालों में बेड नहीं मिलने , इलाज नहीं मिलने की निरंतर शिकायतें आ रही है।

निजी अस्पतालों की मनमर्ज़ी ,लूट-खसोट चालू हो चुकी है, कोरोना के इलाज में लगने वाले इंजेक्शन व दवाइयों की मनमानी दरें वसूली जा रही है। सरकार को तत्काल आवश्यक व कड़े कदम उठाना चाहिए।टेस्टिंग-ट्रेसिंग, सर्वे व वैक्सीनेशन के काम व दायरे को तेजी से आगे बढ़ाना चाहिए। अस्पतालों में पर्याप्त बेड की उपलब्धता, मरीजों को तत्काल इलाज मिले इसको लेकर भी आवश्यक इंतजाम करना चाहिए।

निजी अस्पतालों की मनमर्ज़ी ,लूट-खसोट चालू हो चुकी है , कोरोना के इलाज में लगने वाले इंजेक्शन व दवाइयों की मनमानी दरें वसूली जा रही है।
सरकार को तत्काल आवश्यक व कड़े कदम उठाना चाहिए।टेस्टिंग-ट्रेसिंग ,सर्वे व वैक्सीनेशन के काम व दायरे को तेजी से आगे बढ़ाना चाहिये…

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार मध्यप्रदेश में कल 2332 नए कोरोना मरीज मिले, जिसके बाद प्रदेश में कुल कोरोना मरीजों का आंकड़ा 2 लाख 95 हजार 511 हो गया है। वहीं, बुधवार को प्रदेश में 9 कोरोना मरीजों की मौत हुई थी और 1261 मरीज डिस्चार्ज हुए थे। मध्यप्रदेश में अब तक 3986 मरीजों की मौतें हो चुकी है। मध्यप्रदेश में अब तक 2 लाख 74 हजार 429 मरीज स्वस्थ मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। इसके बाद मध्यप्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 17096 है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button