छत्तीसगढ़

मूणत ने छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के कार्यों की समीक्षा की

मंडल द्वारा मकान सौंपने में विलम्ब होने पर हितग्राही को कीमत वृद्धि और ब्याज पर मिलेगी छूट

रायपुर : लोक निर्माण और आवास एवं पर्यावरण मंत्री राजेश मूणत ने आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) नया रायपुर स्थित अपने कार्यालय के सभाकक्ष में छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के काम-काज की विस्तार से समीक्षा की।

मूणत ने बैठक में कहा कि मंडल द्वारा आवेदक को यदि मकान सौंपने में तय सीमा से अधिक विलम्ब होता है, तो इसके लिए संबंधित अधिकारी जिम्मेदार होंगे। छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल द्वारा संबंधित आवेदक को इस अवधि की कीमत वृद्धि और ब्याज राशि से छूट दी जाएगी। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को मंडल के अंतर्गत निर्माणाधीन सभी कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण करने के लिए सख्त निर्देश दिए।

आवास एवं पर्यावरण मंत्री मूणत ने छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल को नया रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) तथा रायपुर विकास प्राधिकरण (आरडीए) के संयुक्त तत्वावधान में शीघ्र ही आवास मेला का आयोजन कराने के लिए आवश्यक निर्देश दिए। इसका आयोजन राजधानी रायपुर में किया जाएगा। आवास मेला के माध्यम से निर्मित मकान, दुकान, फ्लैट और उनमें दी जा रही रियायत आदि के बारे में व्यापक प्रचार-प्रसार कर लोगों को जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी।

मूणत ने मंडल के अंतर्गत अर्द्धनिर्मित मकान के कार्यों को विशेष गति देते हुए अगस्त माह तक पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया। इस दौरान उन्होंने नया रायपुर में मुख्यमंत्री आवास योजना के अंतर्गत निर्माणाधीन कार्यों में भी विशेष गति लाने के लिए निर्देश दिए। इसके तहत नया रायपुर के सेक्टर 16, 30 और 34 में 6 हजार 900 मकानों का निर्माण किया जा रहा है। इनमें अभी तक 816 मकानों का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। मूणत ने इसमें 15 अगस्त 2018 के पहले कम से कम तीन हजार मकानों का निर्माण हर हालत में पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।

मूणत ने बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना, अटल विहार योजना और जी.ए.डी. भवनों आदि कार्यों की प्रगति की भी समीक्षा की। राज्य शासन द्वारा प्रदेश के सभी 27 जिलों के अंतर्गत समस्त 146 ब्लॉक मुख्यालयों में कार्यरत शासकीय अधिकारियों तथा कर्मचारियों के लिए कुल 6 हजार 424 भवनों का निर्माण किया जा रहा है। इनके निर्माण के लिए लगभग 800 करोड़ रूपए की राशि स्वीकृत है। प्रत्येक विकासखंड मुख्यालय में इनका निर्माण प्रारंभ कर दिया गया है। इसके तहत हर विकासखंड में तीन अलग-अलग श्रेणी के 44 भवनों का निर्माण किया जा रहा है। इनमें छह एफ-टाईप, 18 जी-टाईप और 20 एच-टाईप के मकान शामिल है।

मूणत ने मंडल के अंतर्गत प्रत्येक परियोजना का लेखांकन अद्यतन रखने भी आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने इनका कम्प्यूटराईज्ड कर मंडल की सेवाओं को सतत् ऑनलाइन प्रदर्शित करने निर्देशित किया, जिससे मंडल के वेबसाईट खोलने पर चल रही पट्टी से हितग्राहियों को मकानों की स्थिति तथा रिक्त मकानों आदि के बारे में सहजता से जानकारी उपलब्ध हो जाए।

इसके अलावा मूणत ने मंडल के अंतर्गत पूर्ण मकानों की सुगमता से बिक्री के लिए सर्किल स्तर पर एक-एक युक्तियुक्तकरण कमेटी भी गठित करने आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष भूपेन्द्र सवन्नी तथा आयुक्त सिद्धार्थ कोमल परदेशी, आवास एवं पर्यावरण विभाग के सचिव संजय शुक्ला और संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.