छत्तीसगढ़

स्टोर में लगी आग, लाखों का हुआ नुकसान, फिर भी संचालक ने नहीं कराई एफआईआर

प्रकाश यादव:

कसडोल: दरअसल पूरा मामला गिरौदपुरी का है जहां मुख्य मार्ग बस स्टैंड में स्थित यश मेडिकल स्टोर में बुधवार रात को अचानक अज्ञात कारणों से आग लग गई इस आगजनी में लाखों रुपए की दवाएं जलकर राख हो गई जिस पर दुकान संचालक द्वारा एफआईआर करवाना जरूरी नहीं समझा गया।

यह आगजनी की घटना तब हुई जब दुकान संचालक दुकान बंद कर शाम लगभग 7:00 बजे परिवार सहित दुर्गा पूजा के लिए अपने मूल निवास दर्रा गए हुए थे। प्लास्टिक जलने की गंध आने पर एवं दुकान के ऊपर से धुआं निकलते देख वहीं सामने किराना दुकान चलाने वाले बिसाहू राम साहू ने फोन कर मेडिकल वाले को खबर किए और जैसे ही आग लगने की खबर आसपास के लोगों को होते ही सभी मौके पर पहुंचकर आग बुझाने का प्रयास किए साथ ही लोगों का कहना है की यश मेडिकल के मालिक द्वारा मेडिकल की आड़ में क्लीनिक का भी संचालन किया जा रहा था और पेट्रोल डीजल भी बेची जाती थी।

साथ ही गुरुवार सुबह आग से जले मेडिसिन को बिना उच्च अधिकारियों को अवगत कराए बिना आनन-फानन में गिरोधपुरी विश्राम गृह के पीछे अस्थाई डिपो के पास खुले मैदान में एक आ गया है जहां पशुओं का एवं चरवाहों का आना जाना लगा रहता है साथ ही मेडिका संचालक यशवंत साहू से रिपोर्ट नहीं करने की जानकारी पूछने पर इंश्योरेंस नहीं होने की बात कही गई साथ ही बिना ड्रग इंस्पेक्टर को जानकारी दिए बिना जले मेडिसिन को खुले मैदान में फेंका गया जबकि जले हुए मेडिसिन को गड्ढा खोदकर दबाया जाता है। वही मेडिकल संचालक यशवंत साहू से लाइसेंस के संबंध में पूछने पर गोलमोल जवाब दिया गया साथ ही इतनी बड़ी आगजनी की घटना होने पर रिपोर्ट दर्ज नहीं कराना संदेह के दायरे में।

Tags
Back to top button