स्ट्राबेरी मून – आज आसमान में दिखेगा मनमोहक नजारा

वॉशिंगटनः जून का महीना 2 बड़ी खगोलीय घटनाओं के साथ समाप्त होगा। पहली स्ट्रॉबेरी मून, और शनि का पलटना यानि विलोमन। ये दोनों घटनाएं एक ही समय में होने की उम्मीद है । नासा के जेट प्रोपल्सन लेबोरेटरी ने जून 2018 के लिए स्पॉट किए जाने वाले कार्यक्रमों में इन दो खास घटनाओं को सूचीबद्ध किया है।हालांकि, ये घटनाएं केवल उत्तरी अमरीका और कुछ प्रशांत क्षेत्रों में दिखाई दे सकती हैं। स्ट्रॉबेरी चंद्रमा संयुक्त राज्य के मध्य-पश्चिम क्षेत्रों के आसपास विशेष रूप से दिखने की संभावना अधिक है।

स्ट्रॉबेरी मून : 28 जून की रात चंद्रमा पृथ्वी के चारों ओर अपनी कक्षा में चक्कर लगा कर अपने सबसे दूरस्थ बिंदु तक पहुंचेगा जिस कारण इस दिन चंद्रमा सबसे छोटा दिखाई देगा, और पृथ्वी पर एक छोटी छाया डालेगा । वैज्ञानिकों को मुख्य रूप से चंद्रमा पर हरे और लाल रंगों के संयोजन की उम्मीद है। घटना के शुरुआती चरण में लाल रंग में चंद्रमा दिखाई देगा, अंत में पृथ्वी से इसकी दूरी कम होने पर इसकी छाया पीले रंग की हो सकती है । स्ट्रॉबेरी चंद्रमा को 28 जून को EDT समयानुसार 1 बजे व IST समयानुसार 10.30 बजे देखा जा सकेगा।

इस घटना को ‘स्ट्रॉबेरी चंद्रमा’ इसलिए कहा जाता है क्योंकि ओल्ड किसान अल्मनैक के अनुसार अमरीका में न्यू इंग्लैंड और झील सुपीरियर के आसपास स्थित अलॉन्क्विन जनजातियों ने इस घटना को स्ट्रॉबेरी फसल के मौसम के साथ चिह्नित किया है। उन्होंने वर्ष के विभिन्न मौसमों को चिह्नित करने के लिए जूलियन या ग्रेगोरियन कैलेंडर की बजाय पूर्ण चंद्रमा का उपयोग किया। यह कैलेंडर अगले महीने के ब्लड मून के रूप में भी संदर्भित करता है।

शनि का विलोमन : यह घटना सूर्य के चारों ओर शनि की क्रांति के एक चरण को संदर्भित करती है, जहां पृथ्वी के संबंध में रिंग प्लेनट और सूर्य विपरीत दिशाओं में दिखाई देते हैं। उसी समय शनि भी पृथ्वी के निकट पहुंचता है और रात को आकाश में सबसे अधिक दिखाई देता है।

इस खगोलीय घटनाक्रम में शनि के छल्ले की दुर्लभ झलक भी देखने को मिल जाएगी । शनि का पलटना यानि विलोमन EDT समयानुसार 9 बजे व IST समयानुसार 6.30 बजे देखा जा सकेगा।

new jindal advt tree advt
Back to top button