बालक एवं किशोर श्रम अधिनियम के उल्लंघन पर की जाएगी कड़ी कार्यवाही

श्रमायुक्त कार्यालय छ0ग0 खण्ड-3, द्वितीय तल, इन्द्रावती भवन, अटल नगर, द्वारा समस्त नियोजक/प्रोपराईटर/संस्था-प्रतिष्ठान प्रमुख

संवाददाता : सुमित जालान

गौरेला पेण्ड्रा मरवाही : श्रमायुक्त कार्यालय छ0ग0 खण्ड-3, द्वितीय तल, इन्द्रावती भवन, अटल नगर, द्वारा समस्त नियोजक/प्रोपराईटर/संस्था-प्रतिष्ठान प्रमुख (दुकान एवं वाणिज्यिक स्थापनाऐं, निजी अस्पताल एवं नर्सिंग होम, टाॅकिज, होटल एवं रेस्टोरेंट, माल, समाचार पत्र संस्थान, निजी शैक्षणिक एवं कोचिंग संस्थान, ट्राॅन्सपोर्ट उपक्रम, निजी सुरक्षा एवं प्लेसमेंट एजेंसी/ठेकेदार, रियल स्टेट/कंस्ट्रक्शन कंपनी इत्यादि हेतु निर्देशित किया गया है कि बालक और किशोर श्रम (प्रतिषेध और विनियमन) अधिनियम 1986 की धारा 3 (1) के अनुसार किसी भी बालक (14 वर्ष से कम) किसी बालक को किसी भी तरह के उपजीविका अथवा प्रक्रिया में कार्य करने अथवा कार्य पर रखे जाने की अनुमति नही होगी तथा धारा 3 (ए) के अनुसार किसी भी किशोर को (14 से 18 वर्ष) को अधिसूचित खतरनाक उपजीविका अथवा प्रक्रिया में कार्य करने अथवा कार्य पर रखे जाने की अनुमति नही होगी।

यह भी पढ़ें :- मुंगेली : विदेशी मदिरा दुकानों सेे विदेशी मदिरा एवं बीयर के नगद विक्रय की अनुमति 

उक्त अधिनियम अंतर्गत परिसंकटमय प्रक्रियाऐं (कारखाना अधिनियम) 1948 के अंतर्गत उल्लेखित संस्थान पूर्णतः प्रतिबंधित अधिसूचित की गई है। बालक एवं कुमार श्रम (प्रतिषेध और विनियमन) अधिनियम 1986 की धारा-14 के अंर्तगत धारा 3(1) एवं 3(2) के उल्लंघन की स्थिति में बालक/किशोर श्रम योजकों को 6 माह से 2 वर्ष तक का कारावास अथवा 20,000/- से 50,000/- तक का जुर्माना अथवा दोनों से दण्डित किया जाना प्रावधानित है।

उल्लेखनीय है कि बालक एवं कुमार श्रम (प्रतिषेध और विनियमन) अधिनियम 1986 संशोधन अधिनियम 201़6 की धारा-12 के अंतर्गत अधिनियम की धारा-3 एवं धारा-14 की संक्षिप्ति का अंतर्विष्ट करने वाली सूचना का प्रदर्शन नियोजक द्वारा संस्थान के दृष्टिगोचर स्थल पर किया जाना अनिवार्य है। उक्त सूचना का प्रदर्शन न करने वाले संस्थान के नियोजक को अधिनियम अंतर्गत एक माह तक का कारावास या रू. 10,000/- के जुर्माने अथवा दोनों से दंडित किये जाने का प्रावधान है। अधिनियम की धारा-12 के अंतर्गत ‘‘बाल श्रम निषेध सूचना का प्रदर्शन’’ अपने संस्थान के मुख्य द्वार के दृष्टिगोचर स्थल पर सुगम दृश्य आकार में अनिवार्यतः प्रदर्शन किया जाना जरूरी है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button