छत्तीसगढ़

102-108 के कर्मचारियों का 22वें दिन भी हड़ताल, अब परिवार के साथ जेल भरो आंदोलन

रायपुर।

प्रदेश की लाइफ लाइन संजीवनी एक्सप्रेस, जच्चा-बच्चा को अस्पताल लाने ले-जाने वाली 102 महतारी एक्सप्रेस सेवा के ढाई हजार कर्मचारी 22वें दिन भी हड़ताल पर हैं। कर्मचारियों का कहना है कि अब आरपार की लड़ाई होगी।

राजधानी के ईदगाह भाटा मैदान में आज से हम परिवार के साथ प्रदर्शन करेंगे। वहीं दो दिन बाद परिवार के साथ जेल भरो आंदोलन होगा।

बता दें हड़ताल की वजह से जैसे-तैसे ही जीवीके-ईएमआरआइ स्वास्थ्य विभाग की मदद से इमरजेंसी सर्विस को इमरजेंसी के वक्त संचालित कर पा रही है। 100 फीसद सेवा नहीं मिल रही है, लेकिन गाड़ियां दौड़ जरूर रही हैं।

वहीं कंपनी ने चार अगस्त को कर्मचारियों की बर्खास्तगी का नोटिस जारी किया था, पांच अगस्त को बर्खास्तगी मान ली गई, मगर कंपनी ने कर्मचारियों को राहत दी है। कहा है कि बर्खास्तगी का कोई आदेश जारी नहीं होगा, नौकरी पर लौटने के रास्ते खुले हैं।

दूसरी तरफ अनियमितिकरण की मांग पर अडे कर्मचारियों की तरफ से भी एक कदम पीछे खींचा गया है। कहा है कि न्यूनतम वेतनमान मिल जाए। अब देखना यह है कि कब तक हड़ताल खत्म होती है और संजीवनी की गाड़ी पटरी पर लौटती है।

Back to top button