मोदी जी से शादी करने के लिए 1 महीने से कर रही हैं हड़ताल

एनजीटी ने जंतर-मंतर के आसपास सभी धरना प्रदर्शनों पर गुरुवार को पाबंदी लगाते हुए कहा कि इस तरह की गतिविधियां पर्यावरण कानूनों का उल्लंघन करती हैं. कोर्ट ने स्थल को रामलीला मैदान ले जाने का भी विकल्प सुझाया है, जंतर-मंतर में लंबे समय से कई आंदोलन हुए हैं जिनसे देश की दशा और दिशा भी तय हुई है. यह स्थल अलग-अलग तरह के विरोध प्रदर्शनों का साक्षी रहा है. यहां चल रही एक हड़ताल के बारे में जानकर आप आश्चर्य में पड़ जाएंगे.

जंतर-मंतर से आंदोलनकारियों को हटाए जाने से पहले कुछ ऐसे लोगों की कहानियां सामने लाएं जो न जाने कितने समय से अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं. जंतर-मंतर की कहानियों में सबसे अलग और रोचक कहानी जयपुर की जय शांति शर्मा की है. 45 साल की जय शांति पिछले एक महीने से भूख हड़ताल पर बैठी हैं और मांग भी ऐसी कि जिसे सुनकर लोग उन्हें पागल कहते हैं. हमने जय शांति से पूछा तो उन्होंने बताया कि वे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से शादी करना चाहती हैं क्योकि उन्हें सिर्फ मोदी जी ही समझ सकते हैं.

जय शांति की मानें तो उनके पति ने 1989 में उन्हें शादी के एक साल बाद ही छोड़ दिया था, वे तब से अकेली हैं. उन्होंने हमें यह भी बताया कि उन्हें कई लोगों ने शादी का प्रस्ताव दिया पर उन्हें प्रधानमंत्री मोदी में ही वो बात नजर आई.

जय शांति से हमने जब पूछा कि मोदी जी की तो पहले ही जशोदा बेन से शादी हो चुकी है, तो जय शांति ने तपाक से जवाब दिया कि मोदी जी तो जशोदा बेन के साथ रहते नहीं. जय शांति ने यह भी कहा कि अगर मोदी जी मान गए तो वे दहेज में मोदी जी को दो करोड़ रुपये भी दहेज के रूप में अपनी पुश्तैनी जमीन बेचकर देंगी.

जय शांति को हमने जब बताया कि उन्हें जल्द ही कोर्ट के आदेश की वजह से जंतर-मंतर से हटा दिया जाएगा तो वे बोलीं कि अगर ऐसा हुआ तो वे प्रधानमंत्री आवास जाकर भूख हड़ताल करेंगी.

1
Back to top button