राष्ट्रीय

हड़ताली रोडवेज कर्मचारियों पर कार्रवाई तेज, 284 कर्मचारी निलंबित

सरकारी कर्मी करेंगे दो दिन की स्ट्राइक

नई दिल्ली :

पिछले कई दिनों से राेडेवज की बसें नहीं चलने से परेशान हरियाणा की जनता की मुसीबत और बढ़ गई। हरियाणा सरकार ने हड़ताली रोडवेज कर्मचारियों पर बड़ी कार्यवाही करके 284 कर्मचारी निलंबित कर दिया है तथा 72 को बर्खास्त कर दिया है।

इससे पहले 300 से अधिक कर्मचारी बर्खास्त और 500 से अधिक निलंबित किए जा चुके हैं। सरकार ने सभी हड़ताली कर्मचारियों से त्योहारी सीजन व जनहित के मद्देनजर काम पर लौटने की अपील की है।

उधर, हरियाणा रोडवेज के हड़ताली कर्मचारी किलोमीटर स्कीम रद्द हुए बिना चक्का जाम खत्म करने को तैयार नहीं हैं। सोमवार को हड़ताल का 14वां दिन है। रोडवेज कर्मचारी तालमेल कमेटी की पूर्व घोषणा के अनुसार हड़ताल की अवधि 29 अक्टूबर तक ही है। कमेटी ने सोमवार को दोबारा आपात बैठक कर अवधि आगे बढ़ाने का निर्णय रविवार को लिया है।

सोमवार को हड़ताल और आगे बढ़ाने की घोषणा की जाएगी। तालमेल कमेटी के सदस्यों के गिरफ्तारी वारंट पर पुलिस हरकत में देख प्रदेश के सभी डिपुओं में दबिश दे रही है। तालमेल कमेटी के आधा दर्जन नेता गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

बाकि नेताओं को गिरफ्त में लेने के प्रयास जारी हैं। कमेटी के लगभग दस नेता भूमिगत हैं, जिनकी जानकारी जुटाने के लिए खुफिया एजेंसियां सक्रिय हो गई हैं। तालमेल के वरिष्ठ सदस्य हरिनारायण शर्मा, विरेंद्र धनखड़, दलबीर किरमारा, जयभगवान कादियान,

अनूप सहरावत, सरबत पूनिया, बलवान सिंह दोदवा, पहल सिंह तंवर, नसीब जाखड़ व रामकुमार वर्मा ने कहा कि अब हड़ताल जन आंदोलन बन चुकी है। सीएम मनोहर लाल आगे आकर वार्ता कर हड़ताल को खत्म कराएं, अन्यथा बाकि कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने से जनता को भारी परेशानी होगी। यह तालमेल कमेटी नहीं चाहती है।

चंडीगढ़ डिपो के जीएम पर एफआईआर दर्ज करने की मांग

तालमेल कमेटी के वरिष्ठ सदस्य बलवान सिंह दोदवा ने कहा कि अनुभवहीन चालक रोज एक्सीडेंट कर रहे हैं। इससे यात्रियों की जान को खतरा बना रहता है। रविवार को चंडीगढ़ डिपो की वोल्वो एचआर-68-9962 करनाल के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। जिसमें अनेक यात्रियों को चोटें आई हैं।

वोल्वो को अनुभवहीन चालक सुरेंद्र चला रहा था। जिसे 300 रुपये रोजाना की दिहाड़ी पर रखा गया है। इसकी सारी जिम्मेदारी चंडीगढ़ डिपो के महाप्रबंधक की है। महाप्रबंधक के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की जाए। दोदवा ने बताया कि कुछ दिन पहले ही इस वोल्वो बस की मरम्मत पर 28 लाख रुपये खर्च किए गए थे। पूरे खर्च की भरपाई महाप्रबंधक की सैलरी से होनी चाहिए।

रोडवेज कर्मचारी छोड़ें अड़ियल रवैया : धनपत सिंह

परिवहन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव धनपत सिंह ने कहा कि सरकार कर्मचारियों के साथ वार्ता को हर वक्त तैयार है। कर्मचारी किलोमीटर स्कीम रद्द करने को लेकर अड़ियल रवैया छोड़ें। उन्होंने बताया कि रविवार को रोडवेज सहित कुल 2503 बसें सड़कों पर उतरीं।

350 कर्मचारी काम पर लौट आए हैं। शनिवार के मुकाबले रविवार को 100 बसें अधिक सड़कों पर दौड़ीं। धनपत सिंह ने कर्मचारियों से आह्वान किया है कि सरकार उनकी सभी जायज मांगों पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने को तैयार है।

चुनावी साल में सरकार के लिए आंदोलन नहीं उचित

हरियाणा सरकार चुनावी साल में प्रवेश कर चुकी है। ऐसे में रोडवेज सहित अन्य कर्मचारी संगठनों का आंदोलन उसके लिए नुकसानदायक हो सकता है। सरकार को आंदोलन से निपटने की रणनीति बदलते हुए कर्मचारियों के साथ चल रहा टकराव टालना होगा। लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव हुए तो सरकार के पास छह महीने से भी कम समय रह गया है। ऐसे में कर्मचारियों की नाराजगी मोल लेने के लिए बजाय उन्हें अभी साधना होगा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
हड़ताली रोडवेज कर्मचारियों पर कार्रवाई तेज, 284 कर्मचारी निलंबित
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt