दूरस्थ क्षेत्रों के छात्र अच्छे नंबर ला सकते हैं,तो शहरी क्षेत्र के क्यों नहीं: भीम सिंह

कलेक्टर ने मोहला-मानपुर ब्लाक और डोंगरगांव ब्लाक के प्राचार्यों की विशेष रूप से प्रशंसा की

राजनांदगांव । हाईस्कूल और हायर सेकेंडरी परीक्षा के नतीजों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर भीम सिंह ने दूरस्थ वनांचल क्षेत्रों में आए बेहतर नतीजों के लिए यहां के प्राचार्यों की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि जब कुम्हारवाड़ा और गातापार जंगल जैसे दूरस्थ क्षेत्रों में यहाँ के प्राचार्य बेहतर प्रबंधन और लगन से शत-प्रतिशत नतीजे ला सकते हैं तो शहरी क्षेत्र के प्राचार्यों के लिए इसमें किसी तरह की दिक्कत नहीं होनी चाहिए। उन्होंने मदनवाड़ा के प्राचार्य की प्रशंसा भी की। पिछले पाँच सालों से मदनवाड़ा स्कूल का खाता नतीजों में सिफर रहा था। इस बार यहाँ से 18 प्रतिशत विद्यार्थी सफल हुए। कलेक्टर ने मोहला-मानपुर ब्लाक और डोंगरगांव ब्लाक के प्राचार्यों की विशेष रूप से प्रशंसा की।

कलेक्टर ने हायर सेकेंडरी के नतीजों पर संतोष जताया

कलेक्टर भीम सिंह ने आज प्राचार्यों की समीक्षा बैठक में हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी के नतीजों पर संतोष जताया और कहा कि अगली बार 90 प्रतिशत रिजल्ट का लक्ष्य लेकर कार्य करें। जितना बड़ा लक्ष्य रखेंगे, परिणाम भी उसी तरह से मिलेंगे। उन्होंने 20 फीसदी से नीचे नतीजे वाली शालाओं की विशेष रूप से समीक्षा की। यहाँ विषयवार नतीजों की समीक्षा की गई। जिन विषयों के नतीजे में गंभीर रूप से लापरवाही पाई गई और रिजल्ट बेहद खराब रहे हैं उन शिक्षकों और प्राचार्यों पर कार्रवाई के निर्देश कलेक्टर ने दिए हैं। कमजोर नतीजे वाले प्राचार्यों और शिक्षकों की वेतनवृद्धि रोकने के निर्देश भी उन्होंने दिए।

18 जून से खुलेंगे स्कूल

समीक्षा बैठक में सीईओ चंदन कुमार ने कहा कि इस बार 18 जून से स्कूल खुलेंगे। इसकी तैयारी अभी से कर लें। उन्होंने कहा कि मासिक परीक्षा, त्रैमासिक परीक्षा अथवा अर्धवार्षिक परीक्षा के लक्ष्य तो रखें ही लेकिन हर लेक्चर के बाद कुछ आब्जेक्टिव प्रश्न तैयार कर लें। पिछले पाँच वर्षों का पेपर बैंक तैयार कर लें, इनके उत्तर भी रखें। बोर्ड परीक्षा के लिए सिलेबस खत्म करने की प्लानिंग कर लें। जिन स्कूलों में सुविधाओं की कमी है। उनकी जानकारी दें ताकि इसका समाधान किया जा सके।

स्कूलों के प्राचार्यों का किया सम्मान

बैठक के अंत में जिला शिक्षा अधिकारी एसके भारद्वाज ने सभी प्राचार्यों को लक्ष्य के लिए जुट जाने का आग्रह किया। उन्होंने यूनिसेफ की शिखा राणा का हायर सेकेंडरी एवं हाईस्कूल में बेहतर नतीजे लाने के लिए रणनीति बनाने में विशेष मदद के लिए धन्यवाद भी दिया। कलेक्टर ने उन स्कूलों के प्राचार्यों का सम्मान किया जिनके विद्यार्थी मेरिट में आए। इनमें शासकीय पदुम पाल बख्शी बालक हायर सेकेंडरी स्कूल, अतरिया बाजार हायर सेकेंडरी स्कूल, हाईस्कूल शंकरपुर राजनांदगांव, गजानन माधव मुक्तिबोध स्कूल के प्राचार्य शामिल हैं। उन्होंने हाईस्कूल एवं हायर सेकेंडरी में शत-प्रतिशत नतीजे देने वाले स्कूलों के प्राचार्यों का सम्मान भी किया।

new jindal advt tree advt
Back to top button