छत्तीसगढ़

विश्वविद्यालय की लापरवाही को लेकर विद्यार्थियों ने कुलसचिव के नाम सौपा ज्ञापन : सुमित तिवारी

हेमचन्द विश्वविद्यालय दुर्ग द्वारा 2020-21 के सभी कक्षाओ की परीक्षा परिणाम घोषित किये गये है

हिमांशु सिंह ठाकुर:- ब्यूरो रिपोर्ट कवर्धा।

कवर्धा :  हेमचन्द विश्वविद्यालय दुर्ग द्वारा 2020-21 के सभी कक्षाओ की परीक्षा परिणाम घोषित किये गये है लेकिन इसमे विश्वविद्यालय द्वारा बड़ी लापरवाही सामने नजर आ रही है जिन विद्यार्थियों द्वारा इन्दिरा गांधी शास महाविद्यालय पंडरिया में बैठ कर उपस्थिति पत्रक हस्ताक्षर कर परीक्षा दिया गया है उनके परीक्षा परिणाम अनुपस्थिति लगा कर रोक दी गई हैं

ऐसे में स्थानीय विद्यार्थी परेशान होकर पंडरिया महाविद्यालय के चक्कर काट रहे है और उनको पूर्ण रूप से सन्तुष्टि नही मिल पा रही है सुमित तिवारी द्वारा बताया गया है कि ऐसे विद्यार्थियों के नतीजे जबर्दस्ती (wh) डालकर बिना कारण बताए नतीजा रोक दिया गया है और विद्यार्थियों द्वारा दुर्ग जाकर सुधार करवाया जाता है तो (wh) को (A) अपसेन्ट कर दिया जाता है

यह समझ से परे है कि विद्यार्थी कितने बार यूनिवर्सिटी और महाविद्यालय के चक्कर काटे और उसी प्रकार नतीजे निकालने पश्चात अगली कक्षाओ में प्रवेश हेतु विश्वविद्यालय द्वारा आदेश निकाल अंतिम तिथि तय कर दी गई है अब ऐसे में रुके हुए नतीजे या जबर्दस्ती अपसेन्ट कर दिए विद्यार्थियों को msc जैसे या अन्य कक्षाओ में प्रवेश लेना असंभव दिखाई पड़ रहा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button