सुब्रत साहू ने मताधिकार का उपयोग करने लोगों से की अपील जिज्ञासाओं का किया समाधान और सवालों का दिया जवाब

ईवीएम में उम्मीदवारों के नाम और चुनाव चिन्ह के साथ तस्वीर भी होगी

रायपुर : छत्तीसगढ़ के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू शुक्रवार दोपहर 12 बजे से एक बजे तक फेसबुक पर एक घंटे तक लाइव रहे। इस दौरान उन्होंने अनेक मतदाताओं के सवालों के जवाब दिए और उनकी जिज्ञासाओं का समाधान किया। वे सोशल मीडिया के जरिए मतदाताओं के बीच बेहतर पहुंच बनाने और आगामी लोकसभा निर्वाचन में मतदान के लिए प्रोत्साहित करने लोगों से रू-ब-रू हुए। फेसबुक के माध्यम से अनेक लोग उनसे जुड़े।

लोगों ने निर्वाचन की तैयारियों, व्यवस्थाओं और आदर्श आचार संहिता के बारे में कई सवाल पूछे। फेसबुक लाइव के दौरान अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डॉ. एस. भारतीदासन और संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी समीर विश्नोई भी मौजूद थे। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा फेसबुक पर सीधे जुड़कर सवाल-जवाब को लोगों ने सराहा। लोगों ने उनसे आगे भी इस तरह का नियमित रूप से इंटरएक्टिव कार्यक्रम करने का आग्रह किया।

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी सुब्रत साहू ने फेसबुक लाइव में मतदाताओं को बताया कि लोकसभा निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही प्रदेश में आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे अधिक से अधिक संख्या में मतदाता सूची में नाम जुड़वाएं। मतदान के दिन निर्भीक होकर, किसी प्रलोभन या दबाव में आए बिना अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

साहू ने सी-विजिल और सी-टॉप्स सहित निर्वाचन के दौरान उपयोग होने वाले विभिन्न एप्स के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस बार इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में उम्मीदवारों के नाम और चुनाव चिन्ह के साथ ही उनकी तस्वीरें भी होंगी।

फेसबुक लाइव के दौरान लोगों ने कानून-व्यवस्था, आदर्श आचार संहिता, मतदाता सूची संशोधन एवं नया नाम जुड़वाने, मतदाता परिचय पत्र और मतदान दल के लिए व्यवस्था के बारे में सवाल पूछे। वहीं दिव्यांगों के लिए मतदान केन्द्रों पर व्यवस्था, डाक मतपत्र की व्यवस्था तथा आचार संहिता के दौरान अधिकारियों-कर्मचारियों की नियुक्ति एवं स्थानांतरण से जुड़े सवाल भी पूछे गए। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लोगों के सवालों के जवाब में कहा कि सभी मतदान केन्द्रों पर पेयजल, छाया, प्रसाधन और हेल्प डेस्क की व्यवस्था रहेगी। दिव्यांगों के लिए व्हील चेयर भी मुहैया कराया जाएगा।

साहू ने कहा कि लोग आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत सी-विजिल एप, जिला निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में स्थापित नियंत्रण कक्ष या 1950 पर निरूशुल्क फोन कर दर्ज करा सकते हैं। मतदान दल में शामिल अधिकारी-कर्मचारी सी-टॉप्स एप के द्वारा ईवीएम या वाहन में खराबी, पुलिस या चिकित्सा सुविधा की जरूरत के बारे में वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय निर्वाचन प्रक्रिया में अधिक से अधिक लोगों की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए लगातार अभिनव पहल कर रही है। महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय के कार्यों और गतिविधियों से अवगत कराने उन्हें यहां का अध्ययन भ्रमण कराया जा रहा है।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button