प्रबंधन और संवेदनशील प्रशासन के तालमेल से होगा सफल निर्वाचन

सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के दो दिवसीय सर्टिफिकेशन कोर्स का आज अंतिम दिन

रायपुर: लोकसभा निर्वाचन-2019 की तैयारियों के सिलसिले में प्रदेश के सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के दो दिवसीय सर्टिफिकेशन कोर्स सह प्रशिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत हुई। इस अवसर पर संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्रीमती पद्मिनी भोई साहू ने कहा कि प्रंबंधन और संवेदनशील प्रशासन के तालमेल से ही सफल निर्वाचन की प्रक्रिया हो सकेगी। प्रशिक्षण के दौरान लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के 22 नवपदस्थ सहायक रिटर्निंग अधिकारियों को सुगम, निष्पक्ष और स्वतंत्र निर्वाचन के लिए आवश्यक जानकारियाँ दी जा रही हैं।

पहले दिन सहायक रिटर्निंग अधिकारी के दायित्वों, मतदाता सूची के अद्यतन किए जाने, आदर्श आचरण संहिता और अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर जानकारी दी गई। 7 सत्रों के दौरान विषय विशेषज्ञों तथा मास्टर ट्रेनरों ने निर्वाचन संबंधी विभिन्न विषयों पर प्रस्तुतिकरण दिया। इस दौरान प्रश्नोत्तरी तथा निर्वाचन प्रक्रिया में आने वाली व्यवहारिक चुनौतियों के समाधान पर चर्चा हुई।

प्रशिक्षण में मतदाता सूची को अद्यतन करने, सूचना का अधिकार के तहत मतदाता सूची के बारे में निषेध समेत मतदाता सूची के विषय में अन्य जानकारियाँ दी गईं। निर्वाचन की पूरी प्रक्रिया के दौरान पुलिस और प्रशासन के बेहतर समन्वय के लिए सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के प्रयास पर चर्चा हुई।

सुरक्षा बलों की तैनाती के लिए पुलिस को सही समय पर जानकारी उपलब्ध कराए जाने पर जोर दिया गया। सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के दायित्वों पर प्रकाश डालते हुए मास्टर ट्रेनरों ने निर्वाचन के दौरान नामांकन प्रक्रिया, नामांकन की संवीक्षा, अभ्यर्थी की योग्यता तथा अयोग्यता समेत अन्य विषयों पर बातें रखीं।

निर्वाचन से जुड़ी विभिन्न गतिविधियों की पूर्व तैयारियों की जानकारी दी गई। मतदान दल, मतदान केंद्रों की तैयारियों, रिजर्व पार्टी सहित अन्य पहलुओं पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गई। आदर्श आचरण संहिता के पालन तथा इस दौरान रखी जाने वाली सावधानियों के संबंध में प्रकाश डाला गया। निर्वाचन व्यय तथा निगरानी की बारीकियों को भी साझा किया गया।

दो दिवसीय प्रशिक्षण उपरांत लोकसभा निर्वाचन हेतु सहायक रिटर्निंग अधिकारियों के लिये भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार सर्टिफिकेशन कोर्स पर आधारित परीक्षा आयोजित की जाएगी। प्रशिक्षण के दूसरे दिन 6 सत्र होंगे। इसमें इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन (ईव्हीएम) तथा व्हीव्हीपेट का उपयोग, मतदान दल एवं दिव्यांग मतदाता की सहूलियतों, पेड न्यूज, मीडिया तथा मीडिया मॉनिटरिंग कमेटी, मतगणना तथा परिणाम की घोषणा के साथ ही सूचना प्रौद्योगिकी के उपयोग जैसे सुविधा, सुगम, समाधान, सी-विजिल तथा मतगणना एप्लिकेशन पर जानकारी दी जाएगी।

Tags
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
cg dpr advertisement cg dpr advertisement cg dpr advertisement
Back to top button