छत्तीसगढ़बड़ी खबरराज्यराष्ट्रीयहेल्थ

TEVAR (थोरेसिक एन्डोवास्कुलर ओर्टिक रिपेयर) द्वारा छत्तीसगढ़ की 82 वर्ष बुजुर्ग महिला का सफल इलाज

ह्रदय से सम्बंधित जटिल प्रक्रियाएं भी सफलता पूर्वक किया जा रहा है !

रायपुर छत्तीसगढ़ : TEVAR, बृहद्धमनी (सबसे बड़ी धमनी) के ऊपरी भाग में धमनीविस्फार का इलाज करने की एक चिकित्सा प्रक्रिया है|

धमनीविस्फार, बृहद्धमनी की सतह का एक नाज़ुक और उभरा हुआ हिस्सा है जिसके फटने से व्यक्ति की मृत्यु तक हो सकती है| एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, देश के चुनिंदा अस्पतालों में शुमार है, जहाँ ह्रदय से सम्बंधित जटिल प्रक्रियाएं भी सफलता पूर्वक किया जा रहा है !

एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग एवं उनके टीम द्वारा 82 वर्षीय बुजुर्ग महिला, जो कि उच्च रक्तचाप से ग्रसित थी उसका टेवर जैसी दुर्लभ एवं जोखिम भरी प्रक्रिया से सफलतापूर्वक निष्पादन किया गया|

जब महिला को खासी में खून आने की तकलीफ के साथ एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल में लाया गया तब डॉ. सुमन्त शेखर पाढ़ी (वरिष्ट सलाहकार- ह्रदयरोग) ने उन्हें आगे की जांच करवाने की सलाह दी |

जांच के उपरान्त पता चला उनकी वक्ष महाधमनी फ़ैल गई थी और फेफड़े (ब्रोंकस) में जाकर फट रही थी (इस स्थिति में अवरोही वक्ष महाधमनी का अग्र भाग बाई ब्रोंकस की अवर साखा में प्रवेश करता है).

ह्रदय निश्चेतना विशेषज्ञ

एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल की कुशल कार्डियोलॉजी टीम ने उनकी उम्र और उच्च रक्तचाप की तकलीफ को ध्यान में रखते हुए पहले उन्हें स्थिर करने के लिए रक्त – आधान किया |

उनके स्थिर होने के पश्चात डॉ. सुमंत शेखर पाढ़ी के द्वारा डॉ किंजल बक्शी, डॉ. नितिन कुमार राजपूत (ह्रदय शल्य चिकित्सक) और डॉ. अरुन अन्दपन (ह्रदय निश्चेतना विशेषज्ञ ) के सहयोग से वक्ष महाधमनी और फिस्टुला (महाधमनी और बाएं फेफड़े के ब्रोंकस के बीच का असामान्य संबंध) को बंद करने की प्रक्रिया शुरू की |

इस प्रक्रिया के बाद मरीज को दोबारा स्थिर किया गया | रक्तस्राव की समस्या अब ख़त्म हो चुकी थी और 4 दिनों तक निगरानी में रखने के बाद उन्हें छुट्टी दी गई | अब वह अपनी सामान्य दिनचर्या में वापस लौट चुकी हैं|

डॉ. सुमन्त शेखर पाढ़ी और पूरी कार्डियोलॉजी टीम की ओर आभार व्यक्त करते हुए मरीज ने कहा उच्च रक्तचाप की तकलीफ और मेरी उम्र दोनों ही जोखिम को बढ़ा रहे थे|

मेरा पूरा परिवार डरा हुआ था और मुझे भी समझ नही आ रहा था के आगे क्या होने वाला है, लेकिन डॉ. सुमन्त शेखर पाढ़ी और पूरी कार्डियोलॉजी टीम का मैं जितना शुक्रिया अदा करूँ उतना कम है क्यूंकि उन्होंने मेरी ज़िन्दगी को बेहतर बना दिया है |

एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल

डॉ. सुमंत शेखर पाढ़ी ने कहा मरीज़ की उम्र को देखते हुए यह प्रक्रिया बहुत जोखिम भरा था क्यूंकि अधिक कैल्शियम के कारण रक्तवाहिका कठोर थी| उच्च रक्तचाप इस प्रक्रिया का एक सामान्य कारण है जिसकी वजह से यह मामला और भी जोखिम भरा हो गया था लेकिन हम अंततः सफल हुए |”

श्री नवीन शर्मा (फैसिलिटी डायरेक्टर, एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल) ने भी कार्डियोलॉजी टीम को बधाई दी “यह राज्य में इस तरह की प्रक्रिया से गुजरने वाली सबसे बुजुर्ग व्यक्ति थीं, यह हम सभी के लिए गर्व का क्षण है क्योंकि हम अपने उद्देश्य को इतनी अच्छी तरह से पूरा करने में सक्षम हैं ।

टेवर और टावी जैसी दुर्लभ और जोख़िम भरी प्रक्रिया जो की बड़े शहरों में ही होती थी, वो अब सफलता पूर्वक एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल, रायपुर में की जाती हैं | इस तरह की प्रक्रिया में प्रत्येक चरण में सावधानीपूर्वक योजना बनाने और प्रत्येक चरण के निर्दोष निष्पादन की आवश्यकता होती है |

इस तरह की टीम वर्क का अभ्यास करने और इस कठिन मामले को सफल बनाने के लिए मैं पूरी कार्डियोलॉजी टीम और विशेष रूप से डॉ. सुमंत शेखर पाढ़ी को बधाई देता हूं।”

एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल के बारे में

नारायणा हेल्थ ने अगस्त 2011 में रायपुर और छत्तीसगढ़ के लोगों को सस्ती, उच्च गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने के लिए एमएमआई अस्पताल के प्रबंधन को संभाला और अतिरिक्त देखभाल और सुविधाएं जोड़ी।

एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशिलिटी अस्पताल, रायपुर तब अस्तित्व में आया, जब पुराने अस्पताल की सुविधाओं को अत्याधुनिक ऑपरेशन थिएटरों के साथ-साथ क्लिनिकल प्रतिभाओं को शामिल कर बदल दिया गया। रायपुर के सबसे शांत स्थानों में से एक के बीच यह अस्पताल मरीजों को अतिश्रिघ स्वस्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए एक आदर्श स्थान है।

एनएच एमएमआई नारायणा सुपरस्पेशलिटी अस्पताल, रायपुर के डॉक्टरों को उनकी स्वास्थ्य देखभाल की जरूरतों के लिए महानगरों की यात्रा किये बिना सस्ती कीमत पर मरीजों को उच्चतम सेवा प्रदान करने हेतु सर्वोत्तम बुनियादी ढाँचा और प्रौद्योगिकी प्रदान करने के दृष्टिकोण के साथ अधिग्रहण किया गया था।

यह सुनिश्चित करने के लिए कि यह अस्पताल मध्य भारत के शीर्ष अस्पतालों के समतुल्य है, – नारायणा हेल्थ ग्रुप द्वारा निरंतर किए जाने वाले सर्वोत्तम अभ्यास – प्रबंधन अभ्यास, मानक संचालन प्रक्रिया, कर्मचारियों की गुणवत्ता और सेवा के साथ-साथ इस अस्पताल में बुनियादी ढांचे को लागू किया।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button