ऐसी सूझबूझ जिसनें दिलाई धोनी की याद, टीम को इसका बड़ा फ़ायदा

टीम इंडिया की पहली पारी के स्कोर के जवाब में आखिरी अपडेट मिलने तक मेज़बान टीम ने 87 के स्कोर पर ही अपने 4 विकेट गंवा दिए हैं.

जिसमें से 3 विकेट टीम इंडिया के स्टार स्पिनर अश्विन रविचन्द्रन ने चटकाए. अश्विन ने आज इतनी शानदार गेंदबाज़ी की कि टीम इंडिया को मैच में बराबरी पर ला खड़ा कर दिया है.

लेकिन आज का उनके खाते में आया एक सबसे ज़रूरी विकेट उन्हें उनके साथ-साथ युवा विकेटकीपर रिषभ पंत ने दिलाया.

इतना ही नहीं पंत ने आज कप्तान विराट और अश्विन को डीआरएस लेने में ऐसी मदद की जिससे एमएस धोनी की यादें ताज़ा हो गई.

इसके साथ ही मुरली विजय ने भी ये इशारा दिया कि उन्होंने भी कोई आवाज़ सुनी है. दरअसल धोनी भी विकेटों के पीछे इस तरह के विकेटों को नहीं छोड़ते.

दरअसल ये विकेट था उस्मान ख्वाजा का जो कि भारत के नज़रिये से बहुत ज़रूरी था. अश्विन ने 40वें ओवर की तीसरी गेंद फेंकी जो कि बिल्कुल मामूली सा टर्न लेते हुए ख्वाजा के बल्ले के पास से निकली.

पंत और अश्विन ने इस गेंद पर ज़ोरदार अपील की. लेकिन अंपायर धर्मसेना ने इसे नकार दिया. इसके बाद बिना देर किए अश्विन पंत और विजय ने तुरंत डीआरएस की मांग कर दी.

जिसके बाद डीआरएस में देखने पर थर्ड अंपायर ने ख्वाजा को आउट करार दिया. टीम इंडिया के लिए ये विकेट इसलिए अहम था|

क्योंकि उस्मान ख्वाजा ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए बिल्कुल पुजारा जैसी पारी खेल रहे थे. आउट होने से पहले उन्होंने 125 गेंदों का सामना किया जिसमें उन्होंने 28 रन बनाए.

अगर ख्वाजा थोड़ी देर और टिकते तो भारत की मुश्किलें बढ़ सकती थी. लेकिन अश्विन-पंत की जोड़ी टीम इंडिया के लिए ये काम कर दिया.

Back to top button