सर्जरी से पहले हार्ट अटैक, बिना ऑक्सिजन 10 मिनट जिंदा रही महिला

नई दिल्ली: हार्ट की सर्जरी की तैयारी के दौरान एक महिला को हार्ट अटैक आ गया। डॉक्टरों ने एक्सटर्नल कार्डिएक मसाज (CPR) देना शुरू किया, लेकिन 20 मिनट तक हार्ट बीट वापस नहीं आई।

इतना ही नहीं करीब 10 मिनट तक महिला बिना ऑक्सिजन के रहीं, लेकिन सर्जरी के बाद अब वह पूरी तरह फिट है। डॉक्टरों ने बताया कि यह किसी चमत्कार से कम नहीं है।

सरस्वती देवी ऑपरेशन थिएटर में थीं। उनकी सर्जरी की तैयारी चल रही थी लेकिन सर्जरी से पहले ही उन्हें हार्ट अटैक आ गया।

डॉक्टरों की कोशिश के बाद भी 20 मिनट तक महिला की हार्ट बीट वापस नहीं आई। मॉनिटर पर हार्ट बीट बताने वाली मशीन में लाइन सीधी हो गई और ब्लड प्रेशर जीरो हो गया।

इसके बाद 10 मिनट तक महिला को बिना मसाज के रखा गया। महिला बिना ब्लड सर्कुलेशन के ही रहीं।

डॉक्टर ने बताया कि जब मरीज की ऑक्सिजन सप्लाई रुक जाए, हार्ट बीट काम न करे और बीपी जीरो हो जाए, तो मेडिकली इस स्थिति को डेड कहते हैं।

CPR के जरिए मरीज को रिवाइव किया जाता है। इस मरीज में यह 10 मिनट तक हुआ।

फोर्टिस हॉस्पिटल के कार्डिएक सर्जन डॉक्टर एस. एन. खन्ना ने बताया कि यूपी की एक 55 साल की महिला इलाज के लिए आई थीं।

उन्हें डायबीटीज था और पहले से ही स्टेंट लगा हुआ था, लेकिन स्टेंट के ठीक पहले ब्लॉकेज आ गया था। डॉक्टर ने बताया कि एक आम सर्जरी की तरह इस ऑपरेशन की तैयारी थी।

मगर, सर्जरी के लिए ले जाने के दौरान ही महिला को हार्ट अटैक आ गया। उनकी हार्ट बीट वापस लाने के लिए CPR दिया गया।

20 मिनट के मसाज के बाद भी हार्ट बीट वापस नहीं आई। खन्ना ने बताया कि एक ही उपाय था कि उनकी छाती खोलकर हार्ट को हार्ट ऐंड लंग मशीन पर ले लिया जाए।

इसमें खतरा था कि मसाज रोकते ही ब्लड सर्कुलेशन बंद हो जाता और ब्रेन को ऑक्सिजन नहीं मिलता।

advt
Back to top button