राजनीति

गांजा तस्करी के मामले में राजधानी के कांग्रेस पार्षद की गिरफ़्तारी पर सुंदरानी का तीखा कटाक्ष

शराबबंदी का पाखंड रचने वाली कांग्रेस सरकार की नाक के नीचे मादक पदार्थों की तस्करी के मामलों की बाढ़ आई : भाजपा

क्या प्रदेश सरकार और कांग्रेस अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को शराब-गांजे के गोरखधंधे के जरिए रोजगार मुहैया करा रही है?

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी ने राजधानी के बिरगाँव के कांग्रेस पार्षद संजयकुमार सिंह की गांजा तस्करी में हुई गिरफ़्तारी पर तीखी कटाक्ष करते हुए सवाल किया है कि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार के आने के बाद एकाएक इन गोरखधंधों में इज़ाफ़ा कैसे हो रहा है और उसमें सत्तारूढ़ कांग्रेस के प्रभावी नेताओं व जनप्रितिनधियों की संलिप्तता के क्या मायने हैं?

सुंदरानी ने कहा कि प्रदेश यह देखकर हैरान है कि पूर्ण शराबबंदी का राजनीतिक पाखंड रचने वाली कांग्रेस और उसकी प्रदेश सरकार की नाक के नीचे मादक पदार्थों की तस्करी और गोरखधंधे के मामलों की बाढ़ आई हुई है!

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक सुंदरानी ने कहा

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक सुंदरानी ने कहा कि उत्तरप्रदेश पुलिस के मुताबिक स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) व नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो, लखनऊ की संयुक्त टीम ने ओड़िशा के संबलपुर से रायपुर के रास्ते डंपर व ट्रक में लादकर झांसी लाया गया 10 क्विंटल गांजा बरामद किया है। इस मामले में एसटीएफ ने गांजे के साथ झांसी के मऊरानीपुर थाना क्षेत्र में ओड़िशा निवासी शंकर बारी उर्फ विक्रम, छत्तीसगढ़ रायपुर बिरगांव के कांग्रेस पार्षद संजयकुमार सिंह, देवरिया निवासी छोटेलाल व बिहार निवासी विनोदकुमार सिंह को गिरफ्तार किया है।

सुंदरानी के मुताबिक पुलिस की पूछताछ में आरोपियों ने झांसी के मऊरानीपुर निवासी गौरव गेस्ट हाउस के मालिक राजेंद्र सर्राफ उर्फ राजू के लिए मादक पदार्थ की तस्करी करने की बात स्वीकार की है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक सुंदरानी ने कहा कि बिरगांव के लोगों के मुताबिक पार्षद बनने के बाद से संजयकुमार वार्ड से अक्सर गायब रहता है। उन्हें वार्ड संबंधी समस्याओं के लिए बार-बार पार्षद के घर के चक्कर लगाने पड़ते हैं, लेकिन जब भी वे उसके घर जाते हैं घर में पार्षद के न होने की जानकारी मिलती है। वार्ड के लोगों को अब पार्षद के गिरफ्तार होने के बाद कांग्रेस की ओर से आरोपी के खिलाफ होने वाली कार्रवाई का इंतज़ार है जो पुराने मामलों की तरह मृग-मरीचिका ही साबित होगा क्योंकि तस्करी और गोरखधंधों के ऐसे कई मामले हैं जिनमें कांग्रेस ने दोहरे राजनीतिक चरित्र का परिचय दिया है।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक सुंदरानी ने कहा

सुंदरानी ने कहा कि छत्तीसगढ़ ही नहीं, देश के दीग़र प्रदेशों में कांग्रेस के बड़े नेता ऐसे मामलों में गिरफ़्तार हुए हैं पर कांग्रेस ने कभी उन पर हाथ डालने की हिम्मत तक नहीं दिखाई।

भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व विधायक सुंदरानी कहा कि शराब तस्करी के मामले में छत्तीसगढ़ के एक कार्यकर्ता को पार्टी से बाहर करके इठलाते कांग्रेस नेता यह तो बताएँ कि उस कांग्रेस कार्यकर्ता के साथ शराब की तस्करी में पुलिस का कर्मचारी किसके दबाव और इशारे पर संलिप्त था? चारामा थाना क्षेत्र में शराब तस्करी कर पाटन ले जाते हुए पकड़ाया पाटन का सब इंस्पेक्टर किन लोगों तक शराब पहुँचाने के लिए ले जा रहा था? उन्हीं दिनों में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू के गृह जिले में एक और आरोपी शराब के साथ पकड़ाया था जिसे विधायक का करीबी बताया गया था।

हरियाणा से शराब की तस्करी कर दिल्ली ले जाते हुए गिरफ्तार कांग्रेस राष्ट्रीय सचिव श्रवण राव और वाहन के मालिक युवक कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष बीवी श्रीनिवास के खिलाफ कांग्रेस नेतृत्व ने क्या कार्रवाई की? कांग्रेस नेता यह भी नहीं बता रहे हैं कि पड़ोसी राज्यों से छत्तीसगढ़ में शराब किन लोगों के द्वारा, किनके लिए और किनके इशारे पर पहुँच रही है? अब गांजे की तस्करी का यह नया मामला यह सवाल खड़ कर रहा है कि क्या प्रदेश सरकार और कांग्रेस अपने पार्टी कार्यकर्ताओं को शराब-गांजे के गोरखधंधे के जरिए रोजगार मुहैया करा रही है?

Tags
Back to top button