सुनील राठी पर हत्‍या के आरोप तय, 10 जनवरी को होगी गवाहों के बयान दर्ज

पेशी के बाद राठी को वापस तिहाड़ जेल ले जाया गया

लखनऊ:
बागपत जिला कारागार में पूर्वांचल डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या के आरोप में कोर्ट ने सुनवाई के दौरान सुनील राठी पर हत्‍या के आरोप तय कर दिए हैं। अब 10 जनवरी, 2019 को मामले में गवाहों के बयान दर्ज किए जाएंगे।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश परमानन्द शुक्ला की कोर्ट में उसकी पेशी हुई। सुनील राठी की पेशी के दौरान जिला न्यायालय छावनी में तब्दील रहा। पेशी के बाद राठी को वापस तिहाड़ जेल ले जाया गया.

मुन्ना बजरंगी को पुलिस 8 जुलाई को झांसी से बागपत जिला जेल लेकर आई थी। 9 जुलाई को उसे बसपा के पूर्व विधायक लोकेश दीक्षित से रंगदारी मांगने के मामले में सीजेएम कोर्ट में पेश करना था।

9 जुलाई की सुबह ही करीब सवा छह बजे जिला कारागार में गोलियों से भूनकर उसकी हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने सुनील राठी की निशानदेही पर जेल के सेफ्टी टैंक से एक पिस्टल, दो मैग्जीन और 22 कारतूस भी बरामद किए थे। साथ ही खेकड़ा थाने में उसके खिलाफ हत्या और आर्म्स एक्ट के तहत मुकद्दमा भी दर्ज हुआ था।

advt
Back to top button