पहली गर्लफ्रेंड ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी को बताया Sympathy Seeker, कहा- तुमसे घिन आती है

बॉलीवुड अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने अपनी बायोग्राफी ‘एन ऑर्डिनरी लाइफ’ में कई महिलाओं के साथ अपने रिश्‍ते पर खुलकर बात की है, इसे लेकर वे लगातार विवादों में बने हुए हैं. पहले फिल्म ‘मिस लवली’ में नवाजुद्दीन की को-स्टार रहीं एक्ट्रेस निहारिका सिंह ने कहा था कि नवाज ने अपनी किताब बेचने के लिए महिलाओं के सम्मान की धज्जियां उड़ाई हैं.

अब एक और अभिनेत्री ने नवाजुद्दीन को झूठा इंसान बताया है. थिएटर आर्टिस्ट और अभिनेत्री सुनील राजवार ने लंबी चोड़ी फेसबुक पोस्ट में लिखा कि नवाजुद्दीन को औरतों की इज्जत करनी नहीं आती.

बता दें, नवाज ने बुक में सुनीता को अपनी पहली गर्लफ्रेंड बताया है. उसमें लिखा है कि कैसे मुंबई में उन्हें सुनीता नाम की एक्ट्रेस से इश्क हुआ और एक दिन वह उन्हें छोड़कर चली गई थीं. वहीं, सुनीता ने अपनी फेसबुक पोस्ट में आरोप लगाया कि उन्हें लेकर नवाज ने कई झूठ बोले हैं. नवाज से ब्रेकअप करने की असली वजह सुनीता ने यहां बताई है. सुनीता लिखती हैं, “मैंने तुम्हारा फोन लेना छोड़ दिया था क्योंकि घिन आती थी तुम्हारे बारे में सोच कर, बात क्या करती तुमसे.”

सुनीता ने लिखा कि नवाज की आदत सहानुभूति बटोरने की है. कभी अपने रंग-रूप, कभी गरीबी तो कभी वह यह कहकर सहानुभूति बटोरते हैं कि उन्होंने वॉचमैन की नौकरी की. सुनीता लिखती हैं कि नवाज अच्छी फैमिली से बिलॉन्ग करते हैं. अपनी बुक में नवाज ने कहा कि सुनीता ने उन्हें उनकी गरीबी की वजह से छोड़ा, इसे झुठलाते हुए सुनीता लिखती हैं- “नवाज का कहना है कि वो गरीब थे और स्ट्रगलर थे इसलिये मैने उन्हें छोड़ दिया. तो नवाज मैं क्या थी, तुम से गरीब तो मैं थी, तुम तो कम से कम अपने घर मैं रह रहे थे. मैं तो दोस्त के घर में रह कर स्ट्रगल कर रही थी.”

ब्रेकअप की असली वजह बताते हुए सुनीता लिखती हैं, “मैंने तुम्हें इसलिए छोड़ा था क्योंकि तुम हमारे संबंध का मजाक बनाते हुए सब व्यक्तिगत बातें हमारे कॉमन फ्रेंड्स के साथ शेयर किया करते थे. तब मुझे पता चला कि तुम औरत और प्यार के बारे में क्या सोच रखते हो. मैंने तुम्हें तुम्हारी गरीबी की वजह से नहीं, तुम्हारी गरीब सोच की वजह से छोड़ा था. तुमने अपनी बायोग्राफी से साबित कर दिया कि मैं जिस नवाज को जानती थीं, तुम आज उससे ज्यादा गरीब हो. ना तुम्हें तब औरतों की इज्जत करनी आती थी और ना ही अब सीख पाए हो.”

बता दें, नवाज दिल्ली के नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में सुनीता के सीनियर थे. सुनीता ने ‘मैं माधुरी दीक्षित बनना चाहती हूं’, ‘एक चालिस की लास्ट लोकल’, ‘संकट सिटी’ जैसी फिल्मों में काम किया है. इसके अलावा वे ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’, ‘शगुन’, ‘रामायण’, ‘हिटलर दीदी’, ‘संतोषी माता’ जैसे टीवी शो में नजर आ चुकी हैं.

1
Back to top button