छत्तीसगढ़

जगदलपुर के कोपागुड़ा में बनेगा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल

मुख्य सचिव ने निर्माण कार्य जल्द शुरू करने के निर्देश

  •  एन.एम.डी.सी. परिक्षेत्र विकास निधि की हाईपावर कमेटी की बैठक सम्पन्न

रायपुर 26 नवम्बर 2020 : मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय महानदी भवन में एन.एम.डी.सी. परिक्षेत्र विकास निधि हेतु गठित हाईपावर कमेटी की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में बस्तर संभाग में एन.एम.डी.सी के समन्वय से किए जा रहे विकास कार्यो से जुड़े विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गयी।

मण्डल ने बस्तर संभाग के लघु वनोपज ईमली, चिरौंजी, तिखूर, शहद, काजू आदि का गुणवत्तापूर्वक प्रसंस्करण करने और इसके माध्यम से वनवासियों के आजीविका में सुधार लाने के निर्देश भी दिए है। बैठक में वर्ष 2020-21 में बस्तर संभाग के सभी जिलों में एन.एम.डी.सी. द्वारा सामुदायिक सहभागिता मद में कराए जाने वाले नवीन कार्यो का अनुमोदन किया गया।

मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार तहसील जगदलपुर के ग्राम कोपागुड़ा में ’सुपर स्पेशलिटी अस्पताल’ का निर्माण एवं संचालन एन.एम.डी.सी. द्वारा किया जाना है। बैठक में जानकारी दी कि अस्पताल के निर्माण के हेतु ग्राम कोपागुड़ा में भूमि का चिन्हांकन कर लिया गया है। मुख्य सड़क से अस्पताल निर्माण स्थल तक पहुंच मार्ग का निर्माण भी कर लिया गया है।

सुपर स्पेशलिटी अस्पताल

मुख्य सचिव ने एन.एम.डी.सी. के अधिकारियों को निर्देशित किया कि सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का निर्माण कार्य जल्द से जल्द शुरू किया जाए। नगरनार के ग्राम चोकाबाड़ा में प्रस्तावित आई.टी.आई. भवन और पॉलिटेक्निक कॉलेज तथा उससे जुड़े आधारभूत संरचनाओं के निर्माण के लिए आवश्यक भूमि का प्रस्ताव वनमण्डाधिकारी कार्यालय रायपुर में यथा शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए। एन.एम.डी.सी. द्वारा सीएसआर मद में कराए गए कार्यो का उपयोगिता प्रमाण पत्र छायाचित्रों सहित प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए।

सीएसआर मद में स्वीकृत एवं अपूर्ण कार्यो को समय-सीमा के भीतर पूरा करने सतत् निगरानी रखने के निर्देश बस्तर संभागायुक्त को दिए गए। बैठक में आदिम जाति एवं अनुसूचित जाति विकास के सचिव श्री डी.डी. सिंह, राज्यपाल के सचिव अमृत कुमार खलखो एवं बस्तर संभागायुक्त जी.आर. चुरेन्द्र सहित विभागीय वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button