केरल बाढ़ राहत राशि जुटाने को सुप्रीम कोर्ट के जजों ने गाए गीत

सोमवार को सभागार में यह दुर्लभ नजारा देखने को मिला

नई दिल्ली। देश की न्यायपालिका के इतिहास में शायद यह पहला मौका था, जब सुप्रीम कोर्ट के दो जजों ने किसी कार्यक्रम में गाना गाया। सोमवार को इंडियन सोसाइटी फॉर इंटरनेशनल लॉ के सभागार में यह दुर्लभ नजारा देखने को मिला।

केरल के बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम में जस्टिस कुरियन जोसेफ और जस्टिस केएम जोसेफ ने अपने गीतों से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। केरल निवासी दोनों जजों की भावपूर्ण प्रस्तुति के बाद कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने दिल खोलकर दान दिए। दस लाख रुपए फौरन जुटा लिए गए।

सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन सर्वोच्च न्यायालय की कार्यवाही कवर करने वाले पत्रकारों ने किया था। इसमें प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा सहित सुप्रीम कोर्ट एवं दिल्ली हाई कोर्ट के कई जज मौजूद थे।

इस मौके पर सीजेआई मिश्रा ने कहा- यहां कुछ कार्यक्रम पेश किए गए हैं, इसलिए कुछ लोग इसे उत्सव मान सकते हैं लेकिन मैं इसे एक नेक कार्य के लिए चंदा जुटाने की ऊर्जा हासिल करने का समेकित प्रयास मानता हूं।

हाल ही में उत्तराखंड हाई कोर्ट से पदोन्नत होकर शीर्ष अदालत पहुंचे जस्टिस केएम जोसेफ ने मलयालम फिल्म “अमाराम” का गाना गया, जिसमें एक मछुआरे की कहानी कही गई है।

उन्होंने कहा- “केरल जब विनाशकारी बाढ़ से रूबरू हो रहा था, तब मछुआरे ही सबसे पहले बाढ़ पीड़ितों की मदद में उतरे थे। यह गीत उन्हीं हो समर्पित है। जस्टिस कुरियन जोसेफ ने पार्श्व गायक मोहित चव्हाण के साथ “हम होंगे कामयाब, एक दिन” गाया। कुछ पत्रकारों ने भी कार्यक्रम पेश किए।

Back to top button