पीएम मोदी और शाह के खिलाफ याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से मांगा जवाब

नई दिल्ली। कांग्रेस सांसद की ओर से पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी चीफ अमित शाह के खिलाफ चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन की शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट ने निर्वाचन आयोग से जवाब मांगा है। कांग्रेस की सांसद सुष्मिता देव ने शीर्ष अदालत में याचिका दाखिल कर पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर कथित तौर पर हेट स्पीच और सशस्त्र बलों के राजनीतिक इस्तेमाल का आरोप लगाया है।

नागरिकता विवाद पर राहुल जी के सपोर्ट में उतारते हुए प्रियंका जी ने कहा है सबके सामने पैदा हुए थे राहुल… भगवान् जाने क्या कहना चाहती हैं. तौबा तौबा का मकाम है.

चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली बेंच ने कहा कि चुनाव आयोग इस मसले पर फैसला लेने के लिए स्वतंत्र है। सुष्मिता देव असम के सिल्चर से कांग्रेस की सांसद हैं और पार्टी की महिला विंग की नैशनल प्रेजिडेंट भी हैं। चीफ जस्टिस के अलावा जस्टिस एसके कौल और जस्टिस केएम जोसेफ की सदस्यता वाली बेंच ने इस मसले की अगली सुनवाई गुरुवार को करने का फैसला लिया है।

सुष्मिता ने अपनी याचिका में चुनाव आयोग पर निष्क्रियता का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि चुनाव आयोग की ओर से इन नेताओं के खिलाफ फैसला न लेना पक्षपातपूर्ण है। सांसद ने कहा था कि आयोग का यह रवैया चुनाव प्रक्रिया पर आघात जैसा है।

सांसद ने अपनी याचिका में पीएम नरेंद्र मोदी और अमित शाह की कई रैलियों का जिक्र करते हुए कहा है कि उन्होंने कई मौकों पर आचार संहिता का उल्लंघन किया। सुष्मिता ने 1 अप्रैल को पीएम मोदी की महाराष्ट्र के वर्धा की रैली का जिक्र भी किया। यहां उन्होंने ‘भगवा आतंकवाद’ के मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साधा था।

Back to top button