सुप्रीम कोर्ट में होगी छत्तीसगढ़ में कथित फर्जी मुठभेड़ मामले की सुनवाई

बिलासपुर।

छत्तीसगढ़ के बस्तर संभाग में मुठभेड़ों में ग्रामीणों को मारे जाने का आरोप लगाती याचिका पर अब सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई होगी। वजह यह कि इसी मामले की एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई शुरू की है। हाई कोर्ट छत्तीसगढ़ ने केंद्र सरकार के अधिवक्ता की अपील स्वीकार कर याचिका स्थानांतरित करने का निर्णय लिया है।

सुरक्षाबलों द्वारा बस्तर में नक्सलियों के खिलाफ लगातार अभियान चलाया जा रहा है। जनवरी 2018 में केड़पाड़ में दो नक्सलियों को मारा गया था। इसके बाद जुलाई 2018 में दंतेवाड़ा में एक महिला सहित दो वर्दीधारी नक्सली मारे गए। इसेलेकर सुनीता पोट्टाम ने हाई कोर्ट में जनहित याचिका दाखिल की है।

याचिका में कहा गया है कि बस्तर में सुरक्षाबल नक्सली बताकर गांव के निर्दोष आदिवासियों की हत्या कर रहे हैं। जंगल में रहने वाले आदिवासियों का जीना मुश्किल हो गया है। पुलिस ग्रामीणों की रिपोर्ट भी नहीं लिख रही है। याचिका में इन मुठभेड़ों की स्वतंत्र एजेंसी से जांच कराने की मांग की गई।

मामले के हाई कोर्ट में लंबित रहने के दौरान छह अगस्त को सुकमा जिले में मुठभेड़ में 15 नक्सली मारे गए। इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दाखिल की गई है। इधर केंद्र सरकार के अधिवक्ता ने सुनीता पोट्टाम की याचिका को भी सुप्रीम कोर्ट ट्रांसफर करने का आवेदन हाई कोर्ट में पेश किया।

Tags
Back to top button