छत्तीसगढ़राजनीति

सूरजपुर : मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना ग्रामीण एवं दूरस्थ क्षेत्रों के लिए बना वरदान

जिले में योजना के माध्यम से 76350 लोगों का उपचार कर 44546 लोगों को दवाईयां एवं परामर्ष देकर किया गया लाभान्वित

  • स्वास्थ्य टीम द्वारा ग्रामीण एवं पिछड़ी जगहों पर पहुंच कर रक्तचाप,षुगर,सर्दी खांसी सहित विभिन्न रोगों का किया जा रहा सफल उपचार

सूरजपुर 01 दिसम्बर 2020 : शासन की महत्वकांक्षी मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना शासन के द्वारा 02 अक्टूबर 2019 से शुभारंभ किया गया जिसके तहत् सूरजपुर जिले के सभी विकासखण्डों के 110 हाट बाजारों में इस योजना का सफल संचालन किया जा रहा हैं।

मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना एक महत्वकांक्षी योजना है जो ग्रामीणों के लिये वरदान साबित हुई हैं। जिसके तहत् ग्रामीण क्षेत्रों में लोग मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना में आये हुए डॉक्टरों को अपनी परेशानियो को बताने लगे एवं डॉक्टर द्वारा दिये गये दवाईयों एवं परामर्शो से बीमारी का ईलाज कराकर संतुष्ट होकर जाते हैं। सूरजपुर जिले के अंतर्गत सभी विकासखण्डों में इस योजना को चालू किया गया जिसमें विकासखण्ड प्रेमनगर मे 11 , ओड़गी में 22 , रामानुजनगर में 17 , सूरजपुर में 24 , प्रतापपुर में 20 , भैयाथान में 16 जगहों पर मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना लगाई जाती है।

मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना

मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत जो ग्रामीण दूर स्वास्थ्य संस्था तक या शहर के अस्पतालों तक नहीं पहुंच पाते थे उनको उन्ही के स्थान पर पहुँच कर मरीजों की बीमारियों की पहचान कर दवाईयां एंव परामर्श दिया जाता है। मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना में बुखार , मलेरिया की जांच एंव उपचार, एचआईव्ही की जांच एंव धनात्मक आने पश्चात् उच्च स्वास्थ्य संस्था में रिफर करना, टी0बी0 की जांच एंव पाजिटीव आने पर उनका दवाई चालू करवाना एंव उसकी देखभाल,

रक्त अल्पता की जांच एंव उपचार, कृष्ठ रोग की पहचान एंव उपचार, रक्तचाप जांच एंव मरीजों की उपचार एंव परामर्श, मधुमेह की जांच एंव उपचार करना, गर्भवती महिलाओं की जांच एंव परामर्श, शिशुओं का टीकाकरण, नेत्र विकार संबंधि जांच एंव उपचार, डायरिया प्रकरण जैसी तमाम बीमारियों का जांच एंव उपचार किया जाता हैं।

सूरजपुर जिले में मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के तहत् बुखार पीड़ित 2337 मरीजों का मलेरिया जांच किया गया जिसमें 13 मरीज मलेरिया से पीड़ित पाये गये जिनका सफल ईलाज कर स्वस्थ्य किया गया । जिले के अंतर्गत सभी 110 मुख्यमंत्री हाट बाजारों में 3114 लोगों का रक्त अल्पता की जांच किया गया जिसमें 10 मरीज रक्त अल्पता के मिलें जिन्हें दवाईयां एंव उच्च संस्था में रिफर एंव परामर्श दिया गया। मुख्यमंत्री हाट बाजारों में 7397 हितग्राहियों का रक्तचाप का जांच किया जिसमें 91 रक्तचाप के मरीजों का सफल ईलाज कर दवाईयां एंव परामर्श दिया गया। अबतक 2886 हितग्राहियों का मधुमेह की जांच किया गया।

स्वास्थ्य संस्था के ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक

मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत महिला कर्मचारियों के द्वारा अब तक 230 गर्भवती महिलाओं का सफल ए०एन०सी० जांच कर संस्थागत प्रसव हेतु परामर्श दिया गया। स्वास्थ्य संस्था के ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक महिला, पुरूष के द्वारा ग्रामीण स्थल के हाट बाजारों में पहुंच कर टीका से छूटे हुए बच्चो की पहचान कर अबतक 254 बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है। योजनान्तर्गत ग्रामीण स्थलों में 50 से अधिक उम्र के बुजुर्गो को जो अधिकतर मोतियाबिंद से ग्रसित होते है अबतक ऐसे 16 लोगों की मोतियाबिंद पहचान कर सफल ऑपरेशन करवाया जा चुका है।

ग्रामीण स्थलों में डायरिया से बचाव के लिए हमेशा परामर्श एंव जनजागरूकता फैलाया जाता है। अब तक इस योजना के अंतर्गत 633 डायरिया से ग्रसित मरीजों की पहचान कर दवाईयां उपलब्ध कराया जा चुका है। अब तक सामान्य बीमारियों की जांच एंव पहचान कर 55077 लोगो का उपचार कर दवाईयां उपलब्ध कराया जा चुका है। इस योजना के तहत् मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के स्वास्थ्य टीमों के द्वारा 2187 हाट बाजारों में जाकर जो अधिकतर ग्रामीण एंव पिछड़ी जगहों पर है वहां पर पहुंच कर 76350 लोगों को इस योजना से लाभान्वित करते हुए 44546 लोगों को दवाईयां उपलब्ध कराया जा चुका है। फरवरी 2020 से जिले के अंतर्गत अब 43 जगहों पर मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना का संचालन किया जा रहा है।

मोबाईल मेडिकल युनिट

मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत मोबाईल मेडिकल युनिट द्वारा स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देष्य से जिले के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों के लिए 04 मोबाईल मेडिकल युनिट वाहन का संचालन किया गया है जो विकासखण्ड सूरजपुर , भैयाथान , प्रेमनगर , ओड़गी में संचालित है। मोबाईल मेडिकल युनिट में 01 डाक्टर , 01 स्टाफ नर्स , 01 लैब टैक्निशियन , 01 फार्मासिस्ट , 01 ए०एन०एम० एंव 01 ड्रायवर शामिल होते है जो ग्रामीण स्थलों के हाट बाजारों में पहुंच कर मरीजो का डाॅक्टर के जांच के उपरांत लैब टैक्निशियन के द्वारा पैथोलॉजी जांच करके फार्मासिस्ट के द्वारा दवाईयों का निःशुल्क वितरण किया जाता है

अब तक सूरजपुर जिले के अंतर्गत विकासखण्ड सूरजपुर में 331 शिविरों में 10250 , प्रेमनगर में 291 शिविरों में 17400 , ओड़गी में 230 शिविरों में 13971 , भैयाथान में 309 शिविरों में 10041 मोबाईल मेडिकल युनिट द्वारा लोगो को मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लिनिक योजना के अंतर्गत लाभान्वित किया जा चुका हैं। वर्तमान में विकासखण्ड सूरजपुर एंव भैयाथान में मोबाईल मेडिकल युनिट का संचालन किया जा रहा है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button