सर्जिकल स्ट्राइक काे लेकर RTI का अहम खुलासा!

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर(पीअाेके) में घुसकर आतंकियों पर भारतीय सेना द्वारा की गई कार्रवाई देश के इतिहास में पहली सर्जिकल स्ट्राइक थी। इस बात का खुलासा एक आरटीआई के जवाब में हुअा है। दरअसल, पुणे के रहने वाले प्रफुल्ल शारदा ने 29 सितंबर, 2016 को हुई इस सैन्य कार्रवाई को लेकर सुरक्षा के अधिकार कानून के तहत जानकारी मांगी थी। उन्हाेंने इस संबंध में तीन सवाल पूछे थे। पहले यह कि भारतीय सेना ने सितंबर, 2016 से पहले कितनी बार सर्जिकल स्ट्राइक की थी और उनमें से कितनी सफल रही थीं? दूसरा सितंबर, 2016 के बाद ऐसी कितनी सर्जिकल स्ट्राइक की गई और उनमें से कितनी स्ट्राइक सफल रही थीं? तीसरा यह कि इन सर्जिकल स्ट्राइक में हमारे कितने जवान शहीद हुए?

ऑप्रेशन में किसी तरह की जनहानि नहीं हुई

RTI के जवाब में रक्षा मंत्रालय ने साफ किया कि उनके पास सितंबर से पहले की गई किसी सर्जिकल स्ट्राइक का रिकॉर्ड नहीं है। दूसरे और तीसरे सवाल के जवाब में मंत्रालय ने कहा कि संबंधित एजेंसी ने बताया कि 29 सितंबर, 2016 को सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक की थी और इस ऑप्रेशन में भारतीय सेना को किसी तरह की जनहानि नहीं हुई थी। प्रफुल्ल कहते हैं कि आरटीआई का उन नेताअाें के दावाें काे खाेखला साबित करता है, जिन्हाेंने दावा किया था कि उनके रक्षामंत्री रहते हुए भारतीय सेना ने 4 बार सर्जिकल स्ट्राइक की थी।

advt
Back to top button