बालिका आश्रम और छात्रावासों का होगा औचक निरीक्षण

समय सीमा की बैठक में कलेक्टर डॉ. मित्तर ने दिए निर्देश

बिलासपुर 28 सितम्बर 2021 : कलेक्टर डॉ. सारांश मित्तर ने आज जिला कलेक्टोरेट स्थित मंथन सभा कक्ष में साप्ताहिक समय-सीमा की बैठक ली। बैठक में उन्होंने आदिवासी विकास विभाग द्वारा संचालित बालक एवं बालिका आश्रम तथा छात्रावासों में उपलब्ध सुविधाओं और सुरक्षा के संबंध में की गई व्यवस्था की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि बालिका आश्रम और छात्रावासों का औचक निरीक्षण किया जाएगा।

बालिका आश्रम तथा छात्रावासों के संचालन में लापरवाही पाये जाने पर संबंधितों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बालिका आश्रम तथा छात्रावासों के औचक निरीक्षण के लिए जिला स्तरीय महिला अधिकारी को नामांकित करने और जल्द ही रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त को निर्देश दिये। कलेक्टर ने सड़कों की मरम्मत का कार्य अभियान चलाकर करने के निर्देश लोक निर्माण विभाग एवं नगर निगम के अधिकारियों को दिए।

बैठक में कलेक्टर डॉ. मित्तर ने कहा कि कोविड 19 के कारण जिलों में मृत व्यक्तियों के परिजनों, आश्रितों को अनुदान सहायता राशि प्रदान करने के निर्देश शासन द्वारा दिए गए हैं। इसके लिए तहसील कार्यालय और नगर निगम क्षेत्र के सभी जोन कार्यालयों में आवेदन लिए जाएं। इसी क्रम में उन्होने अविवादित नामांतरण, सीमांकन और बटवारा के प्रकरणों की समीक्षा की और उन्होंने लंबित प्रकरणों को शीघ्र निराकृत करने के निर्देश दिये।

गोधन न्याय योजना 

बैठक में कलेक्टर ने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी गोधन न्याय योजना की प्रगति की समीक्षा की और गोठान समिति तथा महिला स्व सहायता समूहो को की गई भुगतान के संबंध में जानकारी प्राप्त करते हुए आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने गोठानों एवं चारागाहों में सोलर पंप तथा फेंसिंग की स्थापना, गिरदावरी, मुख्यमंत्री सस्ती दवा दुकान के कार्य, राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, प्रगतिरत इंग्लिश मीडियम स्कूल एवं मुख्यमंत्री वृक्षारोपण योजना के संबंध में जानकारी प्राप्त की और संबंधितों को आवश्यक निर्देश दिये।

बैठक में जिला पंचायत के मुख्यकार्यपालन अधिकारी हरिस एस, वनमंडलाधिकारी कुमार निशांत, अपर कलेक्टर जयश्री जैन, सभी एसडीएम, तहसीलदार एवं विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

 

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button