ज्योतिष

सुर्यग्रहण 2018: साल का अंतिम सुर्यग्रहण,जानें क्या है खास

शनिवार होने के कारण शनैश्चरी अमावस्या भी है और हरियाली अमावस्या

साल का तीसरा और अंतिम सूर्यग्रहण 11 अगस्त शनिवार को आ रहा है। यह दिन साल का सबसे बड़ा ऐसा दिन होगा, जिस दिन कई तरह के संयोग बन रहे हैं।

यह सूर्य ग्रहण श्रावण अमावस्या के दिन आ रहा है। इस दिन शनिवार होने के कारण शनैश्चरी अमावस्या भी है और हरियाली अमावस्या भी है।

इसी दिन से त्रिवेणी में नवग्रह यात्रा भी प्रारंभ होगी। इसलिए तमाम तरह की मंत्र सिद्धि और दान-धर्म के लिए इस दिन का बड़ा महत्व है।

यह सूर्य ग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा, लेकिन जिस तरह से ग्रह संयोग बन रहे हैं उस कारण इसका असर गुप्त रूप से प्रकृति पर होने वाला है।

11 अगस्त को आ रहा यह सूर्य ग्रहण अश्लेषा नक्षत्र और कर्क राशि में भारतीय समयानुसार दोपहर 1 बजकर 25 मिनट से शुरू होगा।

ग्रहण का मध्यकाल दोपहर 3 बजकर 16 मिनट पर होगा और मोक्ष यानी समापन शाम 5 बजे होगा। ग्रहण की कुल अवधि 3 घंटा 35 मिनट रहेगी। ग्रहण का सूतक 12 घंटे पहले यानी रात्रि में 1 बजकर 25 मिनट पर लग जाएगा।

Summary
Review Date
Reviewed Item
सुर्यग्रहण 2018: साल का अंतिम सुर्यग्रहण,जानें क्या है खास
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags