बड़ी खबरमनोरंजन

सुशांत मामले की CBI जांच की जरूरत नहीं : गृह मंत्री

मुंबई पुलिस इस प्रकरण की जांच में सक्षम है।

नागपुर : महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Home Minister Anil Deshmukh) ने शुक्रवार को कहा कि बॉलीवुड के अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले की सीबीआई (CBI)  जांच की जरूरत नहीं है क्योंकि मुंबई पुलिस इस प्रकरण की जांच में सक्षम है।

उन्होंने कहा कि पुलिस इस मामले की जांच के दौरान ‘‘कारोबारी प्रतिद्वन्द्विता’’ के पहलू को भी ध्यान में रख रही है। सुशांत (34) मुंबई के बांद्रा में अपने अपार्टमेंट में 14 जून को मृत पाए गए थे। पुलिस का दावा है कि यह आत्महत्या का मामला है। शुरूआती जांच में मुंबई पुलिस ने पाया कि सुशांत अवसाद की दवाइयां लेते थे।

बृहस्पतिवार को सुशांत की मित्र और अदाकारा रिया चक्रवर्ती ने एक ट्वीट कर सुशांत की मौत के मामले की सीबीआई जांच की मांग की। उन्होंने कहा कि सीबीआई (CBI) जांच से पता चल सकेगा कि ऐसा कौन सा दबाव था जिसकी वजह से सुशांत ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया।

उन्होंने कहा कि उन्हें सरकार पर पूरा भरोसा है और सीबीआई (CBI)  जांच से इस मामले में न्याय दिलाने में मदद मिलेगी।

मिडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक देशमुख ने कहा कि मुंबई पुलिस सुशांत की मौत के मामले की गहन जांच कर रही है और संबद्ध लोगों के बयान भी दर्ज कर रही है।

CBI को यह मामला जांच के लिए सौंपने की जरूरत नहीं

उन्होंने कहा ‘‘सीबीआई (CBI)  को यह मामला जांच के लिए सौंपने की जरूरत नहीं है। हमारे पुलिस अधिकारी सही तरीके से जांच करने में सक्षम हैं और कर रहे हैं। हम कारोबारी प्रतिद्वन्द्विता के पहलू से भी जांच कर रहे हैं।’’

पुलिस ने अब तक दो दर्जन से अधिक लोगों के बयान जांच के सिलसिले में दर्ज किए हैं जिनमें रिया चक्रवर्ती, फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली, कॉस्टिंग डायरेक्टर मुकेश छाबड़ा और सुशांत के परिवार के सदस्य शामिल हैं।

टीवी की दुनिया से बड़े पर्दे का रुख करने वाले सुशांत की ‘एमएस धोनी : द अनटोल्ड स्टोरी’ में क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के किरदार की भूमिका को बेहद सराहा गया।

‘शुद्ध देसी रोमांस’, ‘राब्ता’, ‘केदारनाथ’ और ‘सोनचिरैया’ जैसी फिल्मों से अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने वाले सुशांत की मौत से बॉलीवुड और उनके प्रशंसक हतप्रभ रह गए।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button