सुशील मोदी ने सरकार को ज़े पी़ सेनानियों के सम्मान के प्रति संवेदनशील बताया

नई दिल्ली :सुशील मोदी ने सरकार को ज़े पी़ सेनानियों के सम्मान के प्रति संवेदनशील है. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने यहां शुक्रवार को कहा कि लोकनायक जयप्रकाश नारायण (जेपी) के नेतृत्व में 1974 में प्रारंभ किए गए लेाकतंत्र की रक्षा के लिए चलाए गए आंदोलन में भाग लेने वाले ज़े पी़ सेनानियों को सरकार का पूर्ण सहयोग है।

ज़े पी़ सम्मान योजना से संबंधित सलाहकार पर्षद के अध्यक्ष और उपमुख्यमंत्री मोदी की अध्यक्षता में पटना में पहली बार राज्य के सभी जिलों में नामित त्रि-सदस्यीय समिति के सदस्यों की बैठक आयोजित की गई।

इस अवसर पर सलाहकार परिषद के सदस्य और राज्य के मंत्री राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह, गृह विभाग के प्रधान सचिव आमिर सुबहानी एवं अन्य पदाधिकारीगण भी उपस्थित थे।

बैठक को सम्बोधित करते हुए मोदी ने कहा कि इस योजना के क्रियान्वयन पर राज्य सरकार प्रतिवर्ष 25 करोड़ रुपये खर्च कर रही है तथा इसके लागू होने से लेकर वर्ष 2017-18 तक 121 करोड़ रुपये व्यय हुए हैं।

उन्होंने बताया, “फिलहाल 2,677 ज़े पी़ सेनानियों को पेंशन दिया जा रहा है, जिसमें 10 हजार रुपये प्राप्त करने वाले 961 एवं पांच हजार रुपये प्राप्त करने वाले 1,716 सेनानी शामिल हैं।”

उन्होंने कहा कि ज़े पी़ सेनानियों से उनकी पत्नी का फोटोग्राफ एवं अन्य दस्तावेजों को पूर्व में ही प्राप्त कर लिया जाएगा, जिससे किसी सेनानी की मृत्यु होने की स्थिति में उनकी विधवा को इस योजना का लाभ प्राप्त करने में कोई कठिनाई नहीं हो।

उन्होंने कहा कि ज़े पी़ सम्मान योजना से संबंधित बेबसाइट को बेहतर बनाया जाएगा जिस पर वे अपना सुझाव, शिकायत या सूचना भेज सकेंगे।

new jindal advt tree advt
Back to top button