सुषमा ने कहा- हमसे मदद मांगने के लिए सिर्फ एक ट्वीट काफी है

नई दिल्ली:

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने वियतनाम में कहा कि दुनिया में कहीं भी प्रवासी भारतीय यदि किसी मुश्किल में फंसता है, तो उसके एक ट्वीट करने पर विदेश मंत्रालय मदद के लिए तैयार रहता है.

गौरतलब है कि सुषमा स्वराज भारत और आसियान क्षेत्र के बीच साझेदारी बढ़ाने के लिए वियतनाम और कम्बोडिया के चार दिवसीय दौरे पर हैं.

सुषमा स्वराज ने कहा, ‘दुनिया में प्रवासी भारतीय यदि कहीं भी फंसता है, तो उसे यह भरोसा होता है कि सरकार उन्हें बचाएगी. राहत सिर्फ एक ट्वीट की दूरी पर ही होती है. पहले दूतावासों के लिए यह प्राथमिकता नहीं थी, लेकिन अब यह शीर्ष प्राथमिकता हो गई है. पीएम ने विदेश में रहने वाले भारतीयों को गर्व करने और विदेश मंत्रालय ने उन्हें आश्वस्त रहने का मौका दिया है.’

वियतनाम में सुषमा स्वराज हिंद महासागर सम्मेलन के चौथे संस्करण का उद्घाटन करेंगी. वह 16वें संयुक्त आयोग की बैठक की अध्यक्षता भी करेंगी, जिसमें उनके साथ वियतनाम के उप प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री फाम बिन्ह मिन्ह भी शामिल होंगे.

कम्बोडिया में सुषमा स्वराज वहां के विदेश मंत्री प्रैक सोखोन से गहन वार्ता करेंगी, जिसमें परस्पर हितों के द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मसलों पर बातचीत शामिल होगी.

गौरतलब है कि विदेश मंत्री टि्वटर पर काफी एक्ट;िव रहती हैं. ट्विटर पर मिले संदेशों के बाद वह दुनिया के कई हिस्सों में मुश्किल में फंसे भारतीयों की मदद कर चुकी हैं. जुलाई महीने में ही उन्होंने अमेरिका में फंसे एक भारतीय की मदद की थी, जिसका पासपोर्ट गुम हो गया था और अगले 15 दिनों में ही उसकी शादी होने वाली थी. उसने ट्विटर के माध्यम से सुषमा स्वराज से मदद मांगी थी.

Back to top button