सुषमा स्वराज : सार्क सम्मेलन में हिस्सा नहीं लेगा भारत, आतंकी गतिविधियां के चलते

प्रधानमंत्री इमरान खान सार्क सम्मेलन के लिए अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी को न्योता भेजेंगे।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बुधवार को कहा कि पाकिस्तान जब तक सीमा पार से आतंकवाद की गतिविधियों पर विराम नहीं लगाता तब तक उसके साथ कोई वार्ता नहीं होगी और सार्क सम्मेलन में भारत हिस्सा नहीं लेगा।

पाकिस्तान की मीडिया में कहा गया है कि प्रधानमंत्री इमरान खान सार्क सम्मेलन के लिए अपने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी को न्योता भेजेंगे। पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के लिए इमरान सरकार ने नवजोत सिंह सिद्धू, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को न्योता भेजा था।


एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए सुषमा ने कहा, ‘भारत सरकार पिछले कई वर्षों से करतारपुर कॉरिडोर की मांग कर रही थी लेकिन पाकिस्तान ने अब जाकर सकारात्मक कदम उठाया है।

इसका यह मतलब नहीं है कि दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय बातचीत शुरू होगी। आतंकवाद और वार्ता एक साथ नहीं हो सकते।’

करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास के लिए केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी और हरसिमरत कौर बादल बुधवार को वाघा बॉर्डर होते हुए पाकिस्तान के लिए रवाना हुए।

बता दें कि 20वें दक्ष‍िण एशि‍याई क्षेत्रीय सहयोग संघ (SAARC) सम्मेलन का आयोजन पाकिस्तान में हो रहा है।

गौरतलब है कि इससे पहले 2016 में 19वें सार्क शिखर सम्मेलन का आयोजन भी पाकिस्तान में किया जाना था, लेकिन भारत समेत बांग्लादेश, भूटान और अफगानिस्तान ने इस समिट में हिस्सा लेने से इनकार कर दिया था, जिसके चलते ये सम्मेलन रद्द करना पड़ा था।

पाकिस्तान के लिए रवाना होते समय हरदीप पुरी ने कहा कि करतारपुर कॉरिडोर के शिलान्यास समारोह में जाकर वह खुद को अत्यंत भाग्यशाली समझ रहे हैं।

सिख समुदाय की यह मांग काफी लंबे समय से थी। उन्होंने कहा, ‘मैं इसके लिए पाकिस्तान सरकार को भी धन्यवाद देता हूं।'<>

 

1
Back to top button