ट्रोल का शिकार हुईं सुषमा स्वराज, सोशल मीडिया पर हुई आलोचना

ट्विटर और फेसबुक पर लोग उन्हें अन-फॉलो करने लगे हैं।

लखनऊ : सोशल मीडिया पर आधी रात को भी लोगों की मदद करने को लेकर तारीफें बटोर चुकी विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इन दिनों ट्रोल का शिकार हो रही हैं। सोशल मीडिया पर तन्वी अनस सेठ के पासपोर्ट विवाद को लेकर उनकी कड़ी आलोचना की जा रही है।

इस अभियान में भाजपा समर्थक भी शामिल हैं। इस विवाद के चलते फेसबुक पर पिछले तीन दिन के अंदर उनके पेज की रेटिंग 4.5 से घटकर 1.4 पर आ गई है। ट्विटर और फेसबुक पर लोग उन्हें अन-फॉलो करने लगे हैं। वहीं, रविवार को पांच देशों की यात्रा से लौटने के बाद सुषमा ने तंज भरे शब्दों में ट्वीट किया कि वह 17 से 23 जून तक देश से बाहर थी।

उन्हें नहीं पता कि उनकी गैरमौजूदगी में क्या हुआ लेकिन कुछ ट्वीट्स से सम्मानित किया गया है। इन्हें वह साझा कर रही हैं। इन्हें उन्होंने लाइक किया है। उन्होंने ट्विटर पर 100 से अधिक ट्वीट्स लाइक किए। इन ट्वीट में उन पर और मंत्रालय पर धर्म विशेष के लोगों का तुष्टिकरण करने का आरोप लगाया गया है।

दरअसल 20 जून को लखनऊ के पासपोर्ट सेवा केंद्र पर पासपोर्ट बनवाने पहुंचे मोहम्मद अनस सिद्दिकी और उनकी पत्नी तन्वी अनस सेठ ने विकास मिश्रा नामक अधिकारी पर मुस्लिम होने के चलते अपमानित करने और पासपोर्ट जारी नहीं करने का आरोप लगाया।

इस मुद्दे के सोशल मीडिया पर आने पर विकास के खिलाफ कार्रवाई कर तत्काल हाथोंहाथ पासपोर्ट दे दिया गया। कार्रवाई के बाद विकास ने अपनी सफाई दी। उनके स्पष्टीकरण के बाद सोशल मीडिया पर लोग विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके मंत्रालय पर निशाना साधने लगे।

Back to top button