छत्तीसगढ़

कोरोना संक्रमण फैलाने में आरआर एनर्जी की भूमिका संदिग्ध….!

तीन दिन में मिल चुके दो कर्मचारी फिर भी नही भेजी प्रशासन को सूचना…अन्य कर्मचारियों में खौफ

हिमालय मुखर्जी ब्यूरो चीफ रायगढ़

रायगढ़। कोरोना वायरस का कहर रायगढ़ जिले में तेजी से पांव पसार रहा है। एक तरफ जहां यह बीमारी शहर से लेकर गांव में पहुंच रहा है, वहीं दूसरी ओर कई उद्योग प्रबंधन अब भी जानकारी छिपाने से बाज़ नही आ रहे। हम बात कर रहे हैं गढ़उमरिया में स्थित आरआर एनर्जी पावर प्लांट की। इस कम्पनी में अब तक दो मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। दो दिन पहले याने 17 अगस्त को पहला मरीज सामने आया था, जो कबीर चौक क्षेत्र में रहता है। मरीज ड्राइवर है जो कि संक्रमित होने के बाद कई जगह आना-जाना किया है।

दूसरा मरीज आज सामने आया है। उक्त मरीज डुमरमुड़ा गांव का रहने वाला है। दोनो ही मरीजो के बारे में कम्पनी प्रबन्धन ने जानकारी नही भेजी है। बताया जा रहा है कि जो मरीज संक्रमित हुए हैं, वो कई गांव घूम चुके हैं। कम्पनी में भी उनका आना-जाना लगा रहता था। बावजूद इसके कम्पनी प्रबन्धन की बड़ी मनमानी सामने आ रही है।

कम्पनी के भीतर क्वारंटाइन सेंटर नही

यह जानकारी भी सामने आई है कि कम्पनी प्रबंधन के भीतर मजदूरों के लिए क्वारंटाइन सेंटर की व्यवस्था नही है। गौरतलब है कि आरआर एनर्जी में करीबन 100 मजदूर काम करते हैं। कुछ मरीजों को बाहर से लाने की जानकारी भी सामने आई है। लेकिन प्रबन्धन की मनमानी देखिए यहां मजदूरों के लिए अलग से कोई व्यवस्था नहीं है।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button