राष्ट्रीय

निलंबित आईएएस अधिकारी विजय शंकर ने अपने आवास पर की आत्महत्या

बेंगलुरु के चर्चित आई मॉनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) पोंजी घोटाला का आरोप

नई दिल्ली: बेंगलुरु के चर्चित आई मॉनेटरी एडवाइजरी (आईएमए) पोंजी घोटाला मामले में पिछले साल रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तारी के बाद निलंबित हुए आईएएस अधिकारी विजय शंकर ने बेंगलुरु में अपने आवास पर मंगलवार शाम आत्महत्या कर ली.

बता दें, सितंबर 2019 में आईएमए पोंजी स्कीम मामले में सीबीआई ने आरोपी मंसूर खान के खिलाफ चार्जशीट दाखिल किया था. सीबीआई ने कर्नाटक सरकार के अनुरोध पर 30 आरोपियों के खिलाफ 30 अगस्त 2019 को एक प्राथमिकी दर्ज की थी. सूत्रों के मुताबिक, कथित आपराधिक साजिश, धोखाधड़ी और बेइमानी से संपत्ति की डिलीवरी के लिए बेंगलुरू की अदालत के समक्ष आरोपपत्र दायर किया गया.

इस मामले में सीबीआई ने एक सितंबर 2019 को दूसरा मामला दर्ज किया था. दूसरी प्राथमिकी पीडी कुमार, कार्यकारी अभियंता, बेंगलुरू विकास प्राधिकरण के खिलाफ 5 करोड़ के घालमेल को लेकर दर्ज की गई थी.

बता दें कि CBI से पहले IMA पोंजी घोटाले की जांच कर्नाटक पुलिस की SIT द्वारा की जा रही थी. 19 जुलाई 2019 को मंसूर खान को गिरफ्तार किया था.

Tags
Back to top button