स्वप्निल लोनकर ने पास की एमपीएससी की परीक्षा, नहीं मिली नौकरी, की ख़ुदकुशी

स्वप्निल ने आत्महत्या करने से पहले सुसाइड नोट छोड़ा

पुणे: महाराष्ट्र के पुणे के हडपसर फुरसुंगी इलाके में रहने वाले स्वप्निल लोनकर ने एमपीएससी की परीक्षा पास की, लेकिन उसे नौकरी नहीं मिली. निराशा में उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. जिससे विद्यार्थियों में हड़कंप मच गया है.

स्वप्निल ने आत्महत्या करने से पहले सुसाइड नोट छोड़ा है, जिसमे उसने लिखा है कि एमपीएससी एक मायाजाल है, इसमें न पड़ो, मैं घबराया या परेशान नहीं हुआ. मेरे पास समय नहीं था.

हडपसर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार मृतक 24 वर्षीय स्वप्निल लोनाकर के पिता की शहर के शनिवार पेठ में प्रिंटिंग प्रेस है. उसके माता-पिता रोज वहां जाते हैं, दोनों रोज की तरह बुधवार को भी गए थे. स्वप्निल की बहन किसी काम से बाहर गई हुई थी, जब बहन दोपहर को घर पहुंची तो उसे स्वप्निल कहीं दिखाई नहीं दिया. जब वह उसके कमरे में गई तो देखा कि स्वप्निल ने फांसी लगाई हुई है.

बहन ने तुरंत इस घटना की जानकारी अपने माता-पिता को दी. जिसके बाद पड़ोसी और पुलिस बुलाकर स्वप्निल को अस्पताल में ले जाया गया. लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया.
स्वप्निल ने जो सुसाइड नोट छोड़ा उसमें उसने लिखा है ”एमपीएससी (MPAC) माया जाल है, इसके झांसे में न पड़ो, आने वाले दिनों में उम्र और बोझ बढ़ता जाता है. आत्मविश्वास ढलता है और आत्म संदेह बढ़ता है. उम्र के 24 वर्ष और पास होने को 2 वर्ष हो गए. परीक्षा के लिए लिया हुआ पहाड़ जैसा कर्ज प्राइवेट नौकरी कर कभी नहीं चुकाया जा सकता, परिवार वालों की बढ़ती अपेक्षाएं. नकारात्मक सोच कितने दिनों से मन मे थी, लेकिन आशा थी कि कुछ अच्छा होगा. लेकिन इसके आगे जिंदगी अच्छी होगी इसके आसार कम ही थे. मेरी आत्महत्या के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है, यह मेरा अपना निर्णय है. मुझे माफ कर दो! 100 लोगों की जान बचानी थी, डोनेशन करके, 72 बाकी हैं, हो सके तो उन तक पहुंचो, कई जिंदगियां बच जाएंगी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button