स्विट्जरलैंड ने जर्मनी को हराया, होपमैन कप पर कब्ज़ा रखा है बरकरार

जीत के बाद फेडरर ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं, मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं और खेल भी रहा हूं।

रॉजर फेडरर के शानदार प्रदर्शन के दम पर स्विट्जरलैंड ने जर्मनी को 2-1 से हराकर शनिवार को होपमैन कप के खिताब पर कब्जा बरकरार रखा।

स्विस टीम ने इसी के साथ इतिहास रच दिया, वह इस टूर्नामेंट के इतिहास में खिताब बरकरार रखने वाली पहली टीम बन गई।

फेडरर और बेलिंडा बेनकिक ने एलेक्जेंडर ज्वेरेव और एंजलिक कर्बर को 4-0, 1-4, 4-3 से शिकस्त देकर हॉपमैन कप की ट्रॉफी स्विट्जरलैंड के नाम कर दी।

इससे पहले विश्व के नंबर तीन खिलाड़ी फेडरर ने एटीपी फाइनल्स के विजेता ज्वेरेव को 6-4, 6-2 से शिकस्त दी।

जर्मनी की कर्बर ने भी अपने सिंगल्स के सौ प्रतिशत परिणाम को बनाए रखते हुए बेनकिक पर 6-4, 7-6 से जीत दर्ज कर स्कोर को 1-1 की बराबरी पर कर दिया था।

जीत के बाद फेडरर ने कहा कि मैं बहुत खुश हूं, मैं बहुत अच्छा महसूस कर रहा हूं और खेल भी रहा हूं।

मेलबर्न में इस माह होने वाले ऑस्ट्रेलियन ओपन से पहले वह फ्रांसेस टियाफो, स्टेफानोस सित्सिपास, कैमरोन नौरी और ज्वेरेव को हरा चुके हैं।

फेडरर ने 2001 में मार्टिना हिंगिस के साथ मिलकर पहली बार स्विट्जरलैंड के लिए पहली बार खिताब जीता था। उन्होंने कहा, यह शानदार रहा।

मैं अपने देश के लिए यह खिताब हासिल कर बहुत खुश हूं। बेलिंडा के साथ जोड़ी बनाकर अच्छा लगा।

फेडरर के हाथों मिली हार के बाद ज्वेरेव ने मजाकिया अंदाज में कहा, हम आप लोगों से परेशान हो गए हैं, विशेषकर फेडरर से। फेडरर भले ही 30 साल से ज्यादा उम्र के हो लेकिन वे धूम मचा रहे हैं।

फाइनल में मेदवेदेव से भिड़ेंगे निशिकोरी

जापान के केई निशिकोरी ने फ्रांस के जेरेमी चार्डी को हराकर ब्रिस्बेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट के फाइनल में प्रवेश कर लिया।

दूसरी वरीयता प्राप्त निशिकोरी ने शनिवार को खेले गए पुरुष सिंगल्स के सेमीफाइनल में चार्डी को 6-2, 6-2 से मात दी।

इस जीत के साथ ही निशिकोरी 2016 के बाद से पहली बार कोई खिताब जीतने के करीब पहुंचे हैं। जापानी खिलाड़ी ने चार्डी को एक घंटे छह मिनट में पराजित किया।

निशिकोरी अब करियर के अपने 26वें फाइनल में 12वें खिताब से महज एक कदम दूर हैं। खिताबी मुकाबले में निशिकोरी का सामना रूस के डानिल मेदवेदेव से होगा।

1
Back to top button