राष्ट्रीय

नागरिकता संशोधन विधेयक हिंसा मामले में सैयद अहमद बुखारी ने कही यह बात

हिंसा पर शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने बड़ी बात कही

नई दिल्ली: दिल्ली समेत देश के कई शहरों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों पर जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने कहा कि नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) के तहत, पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से भारत आने वाले मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता नहीं मिलेगी.

इसका भारत में रहने वाले मुसलमानों से कोई लेना-देना नहीं है. नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर दिली एनसीआर सहित कई जगहों पर हो रहे हिंसा पर जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने बड़ी बात कही है.

सैयद अहमद बुखारी ने मीडिया के जरिए लोगों को आह्वान किया, ‘विरोध प्रदर्शन करना भारत के हर नागरिक का अधिकार है, कोई भी हमें यह करने से रोक नहीं सकता है. लेकिन यह सबकुछ नियंत्रण में होना चाहिए. किसी प्रदर्शऩ की सबसे अहम बात यह होनी चाहिए कि हमें अपनी भावनाओं पर नियंत्रण रखना चाहिए. हमें सीमाओं को नहीं लांघना चाहिए. ‘

इमाम बुखारी ने आगे कहा, ‘नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) के बीच अंतर है. एक CAA है जो एक कानून बन गया है, और दूसरा NRC है जिसे केवल घोषित किया गया है, यह एक कानून नहीं है.

Tags
Back to top button