छत्तीसगढ़

आसमान छुती महंगाई से परेशान आमजनों की व्यथा को सरकार तक पहुंचाने किया बंद : तिलक पांडे

-राष्ट्रव्यापी बंद के आव्हान को जनता व व्यवसाईयों ने स्वस्फूर्त दिया पूर्ण समर्थन

दुर्गानाथ देवांगन

कोण्डागांव ।

देश के अनेक राजनीतिक दलों द्वारा आसमान छुती महंगाई से परेशान आमजनों की व्यथा को केंद्र व राज्य सरकारों तक पहुंचाने हेतु राष्ट्रव्यापी बंद के आव्हान को जनता व व्यवसाईयों द्वारा स्वस्फूर्त दिए गए पूर्ण समर्थन से संपूर्ण कोण्डागांव जिला क्षेत्र में बंद सफल रहने पर तिलक पांडे राज्य परिषद् सदस्य एवं जिला सचिव भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी शाखा कोण्डागांव ने आमजननों व व्यवसाईयों का आभार मानते हुए, इस सफल अभियान को केंद्र की सत्ताशीन भाजपा के कुशासन पर जोरदार तमाचा बताया है।

उनका कहना है कि वाकई में वर्तमान में आमजन आसमान छुती महंगाई से अत्यधिक परेशान हो चुकी है और यही कारण है कि आमजनों सहित व्यवसाईयों ने भी अपने अपने प्रष्ठिनों को बंद रखकर राष्ट्रव्यापी बंद को महाबंद का दर्जा दे दिया है.

इसके बाद भी यदि केंद्र एवं राज्य की सरकारों के द्वारा वर्तमान में बढाई जा रही पेट्रोल व डीजल की कीमत में हुई बढोतरी में कटौती नहीं की जाती है, तो स्वतः सिद्ध हो जाएगा कि जनहित की बातें करने वाली भाजपा को शासन चलाना नहीं आता है और इस मुद्दे पर ही केंद्र में सत्ताशीन भाजपा को तुरंत इस्तीफा देकर उनके शासनकाल में आमजनों को हो रही परेशानियों से मुक्ति दे देना चाहिए,

क्योंकि उनके पास इसके अलावा अन्य कोई रास्ता बचता ही नहीं है। सत्ता में बने रहने के लिए केंद्र में बैठी भाजपा सरकार द्वारा आमजनों को रिझाए रखने हेतु आनन-फानन में बनाई गई योजनाओं में नुक्स निकालते एवं कई कमियां गिनाते हुए, तिलक पाण्डे ने बढती महंगाई के लिए उन सभी योजनाओं को सिरे से गलत ठहराया है।

तिलक पाण्डे ने कहा कि उज्वला योजना को गरीब महिलाओं को धुंए से मुक्ति देने वाला बताते हुए मात्र 200 रुपए में सिलिंडर और चुल्हा दे तो रहे हैं, लेकिन अचानक एलपीजी का मुल्य लगभग सवा नौ सौ रुपए करके उन सभी महिलाओं को खुन के आंशु रोने को मजबुर कर रहे हैं।

यहां प्रश्न यह है कि जो परिवार गरीब है वह सवा नौ सौ रुपए गैस सिलिंडर भरवाने के लिए कहां से लाएंगे। आजादी के बाद से जिस पेट्रोल और डीजल के मुल्य में हमेशा 8 से 10 रुपए का अंतर रहा करता था, वह भाजपा सरकार के कार्यकाल में अचानक बराबर मुल्य का कैसे होने जा रहा है।

पेट्रोल और डीजल के मुल्यों में हो रही यह तेजी तब है जबकि कच्चे तेल के मुल्यों में कमी है। डीजल के मुल्य में वृद्धि का सीधा असर अन्य वस्तुओं की महंगाई वृद्धि के रुप में निश्चित रुप से सामने आएगी और कुछ ही दिनों यात्री किराया सहित खाद्य सामग्री की कीमतों में बढोतरी के रुप में अवश्य सामने आएगा, जिसका खामियाजा सीधे आमजनों पर पडेगा।

इसी तरह तिलक पाण्डे द्वारा भाजपा सरकार की एफडीआई, जीएसटी, नोटबंदी सहित अन्य योजनाओं को भी बिना सही रणनीति के आनन-फानन में लागु कर आमजनता को मुसिबत में डालने वाला बताया गया है।

Summary
Review Date
Reviewed Item
आसमान छुती महंगाई से परेशान आमजनों की व्यथा को सरकार तक पहुंचाने किया बंद : तिलक पांडे
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags
advt