अंतर्राष्ट्रीयराष्ट्रीय

चीन से जारी तनाव के बीच ताइवान ने भारत को धन्यवाद कहा, जाने वजह

ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इन वेंग ने बाकायदा ट्वीट करके भारतीयों का आभार माना

ताइपे: ताइवान के राष्ट्रीय दिवस पर भारतीयों द्वारा दिल खोलकर ताइवान को बधाई देने का दोस्ताना अंदाजा ताइवान की राष्ट्रपति को बहुत पसंद आया है. इसके जवाब में राष्ट्रपति त्साई इन वेंग ने पहले एक ट्वीट किया था और अब फिर से भारतीयों को धन्यवाद देते हुए भारतीय संस्कृति और भारतीय विरासत की जमकर तारीफ की है.

त्साई इन वेंग ने अपने ताजमहल दौरे की तस्वीर ट्वीट करते हुए लिखा, ‘भारत के हमारे मित्रों को नमस्कार, मुझे फॉलो करने के लिए धन्यवाद. आपके शुभकामना संदेश मुझे आपके अविश्वसनीय देश में बिताए गए यादगार पलों की याद दिलाते हैं. आपके वास्तु चमत्कार, जीवंत संस्कृति और दयालु लोग वास्तव में अविस्मरणीय हैं. मुझे अपना वह समय बहुत याद आता है’.

इससे पहले, ताइवान के विदेश मंत्रालय ने भी भारतीयों को धन्यवाद किया था. मंत्रालय ने अपने ट्वीट में लिखा था कि ‘भारतीयों के बधाई संदेशों का शुक्रिया. ताइवान इस अद्भुत समर्थन से खुश है. जब हम कहते हैं कि हमें भारत पसंद है, हम उसे मानते हैं.’ इतना ही नहीं ताइवान ने चीन को आड़े हाथों लेते हुए यहां तक कह दिया था कि ‘भाड़ में जाओ’.

विदेश मंत्रालय ने आगे कहा था कि भारत धरती पर सबसे बड़ा लोकतंत्र है जहां जीवंत प्रेस और आजाद पसंद लोग हैं, लेकिन ऐसा लगता है कि कम्यूनिस्ट चीन सेंसरशिप थोपकर उपमहाद्वीप में घुसना चाहता है. ताइवान के भारतीय दोस्तों का एक ही जवाब होगा- भाड़ में जाओ’.

ताइवान और चीन के बीच तनाव लगातार बढ़ता जा रहा है. चीन चाहता है कि दुनिया के सभी देश ताइवान से अपने रिश्ते तोड़ लें, क्योंकि वो ताइवान पर अपना अधिकार जताता है. लेकिन भारत ताइवान के साथ अच्छे रिश्ते रखता है, यह बात चीन को बर्दाश्त नहीं हो रही है. इसके अलावा, उसे ताइवान की अमेरिका (America) से नजदीकी भी खल रही है. अमेरिका चीन से मुकाबले के लिए ताइवान को हथियार मुहैया करा रहा है.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button