मध्यप्रदेश

ज्योतिर्लिंग मंदिर में सोशल डिस्टेंसिंग व सैनिटाइजेशन का विशेष ध्यान रखें

कलेक्टर द्विवेदी ने ओंकारेश्वर में अधिकारियों की बैठक लेकर दिए निर्देश

खंडवा: कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए किए गए लॉकडाउन के बाद अब कुछ दिनों में ज्येातिर्लिंग मंदिर ओंकारेश्वर में श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू होगा। इससे पूर्व कलेक्टर अनय द्विवेदी ने मंदिर में की जाने वाली व्यवस्थाओं की तैयारी के लिए ओंकारेश्वर पुलिस कन्ट्रोल रूम के सभाकक्ष में अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने निर्देश दिए कि मंदिर खोलने से पहले वहां सभी आवश्यक तैयारियां कर ली जायें, उसके बाद ही श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ मंदिर खोला जाये।

उन्होंने कहा कि मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के बीच सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाये तथा आने वाले श्रद्धालुओं के सेनिटाइजेशन के लिए भी व्यवस्था की जाये। बैठक में पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह, नगर परिषद अध्यक्ष श्री अंतर सिंह बारे, मंदिर के प्रबंधक ट्रस्टी राव देवेन्द्र सिंह, एसडीएम पुनासा डॉ. ममता खेड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश परिहार सहित विभिन्न अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

बैठक में कलेक्टर द्विवेदी ने कहा

बैठक में कलेक्टर द्विवेदी ने कहा कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों सहित सभी पक्षों से सलाह कर ओंकारेश्वर मंदिर की व्यवस्थाओं और बेहतर बनाया जायेगा, ताकि वहां आने वाले श्रद्धालुओं को परेशानी न हो। उन्होंने कहा कि ओंकारेश्वर में श्रद्धालुओं को ज्योतिर्लिंग दर्शन की अनुमति दी जायेगी, ओंकारेश्वर में किसी मेले के आयोजन की अनुमति नही होगी।

उन्होंने कहा कि मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं के हाथ धुलाने व वहां लगी रेलिंग को सोडियम हाइपो क्लोराइड के घोल से बार बार सेनिटाइज करने की व्यवस्था की जायें तथा श्रद्धालुओं से बार बार अपील की जाये कि वे रैलिंग, दीवारों, घण्टियों आदि को स्पर्श न करें, क्योंकि ऐसा करने से संक्रमण फैलने की आशंका बनी रहती है।

कलेक्टर द्विवेदी ने कहा कि नागरिकों से समय समय पर अपील की जाये कि 65 वर्ष से अधिक आयु के वरिष्ठ नागरिकों तथा 10 वर्ष के कम आयु के बच्चों को लेकर मंदिर दर्शन के लिए अभी न आयें, क्योंकि इस आयु वर्ग के लोगों को कोरोना संक्रमण से अधिक परेशानी हो सकती है। उन्होंने मंदिर परिसर में श्रद्धालुओं की सूचना के लिए स्थान स्थान पर फ्लेक्स लगवाने तथा लाइन में लगे दर्शनार्थियों को एलईडी टीवी के माध्यम से दर्शन कराने के लिए व्यवस्था कराने के निर्देश भी दिए।

पुलिस अधीक्षक सिंह ने बैठक में कहा

पुलिस अधीक्षक सिंह ने बैठक में कहा कि मंदिर परिसर में बिना मास्क के किसी को प्रवेश न दिया जायें तथा मंदिर परिसर में प्रवेश के समय श्रद्धालुओं की थर्मल स्क्रीनिंग व उनके हाथ सेनेटाइज कराने की व्यवस्था की जाये। एसडीएम डॉ. ममता खेड़े ने बैठक में बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के साथ सीमित संख्या में ही श्रद्धालु ज्येातिर्लिंग के दर्शन कर सकेंगे।

उन्होंने बताया कि गर्भगृह में जाकर दर्शन नही किए जा सकेंगे, बल्कि दूर से ही ज्योतिर्लिंग के दर्शन कराये जायेंगे। उन्होंने कहा कि अभी मंदिर में प्रसाद व अन्य सामग्री चढ़ाने की अनुमति श्रद्धालुओं को नही दी जायेगी, केवल दर्शन की ही व्यवस्था की जा रही है। बैठक में श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए ऑनलाइन टोकन जारी करने की व्यवस्था पर विचार किया गया, ताकि सीमित संख्या में ही श्रद्धालु अभी आयें।

मंदिर परिसर का भ्रमण कर व्यवस्थाओं के लिए अधिकारियों को दिए निर्देश

कलेक्टर द्विवेदी ने पुलिस अधीक्षक सिंह व एसडीएम डॉ. खेड़े के साथ ज्योतिर्लिंग मंदिर व ममलेश्वर मंदिर परिसर का भ्रमण कर वहां वर्तमान व्यवस्थाएं देखीं तथा उनमें सुधार के लिए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए। उन्होंने मंदिर परिसर में स्थित कन्ट्रोल रूम में जाकर भी सीसीटीवी मॉनिटरिंग सिस्टम देखा। अधिकारियों ने भ्रमण के दौरान मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं के हाथ धुलाने व जूता चप्पल स्टेण्ड की व्यवस्थाओं का भी जायजा लिया।

Tags
Back to top button
%d bloggers like this: